गत वर्ष धनतेरस के दिन बिजली विभाग के जेई को गोलीमार जख्मी कर दिया

गोलीकांड के तीन अप्राथमिकी अभियुक्त भेजे जा चुके हैं जेल

सिमरी बख्तियारपुर (सहरसा) बख्तियारपुर थाना क्षेत्र के माखन टोला के समीप गत वर्ष धनतेरस के दिन बिजली विभाग के जेई को अज्ञात बदमाश द्वारा सुपारी देकर हत्या की नियत से गोली मारकर गंभीर रूप से जख्मी कर दिए जानें मामले में पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर अप्राथमिक आरोपी को गिरफ्तार किया है।

बख्तियारपुर थानाध्यक्ष सुबोध कुमार ने बताया कि गुप्त सूचना मिली कि जेई कांड का अप्राथमिक आरोपी सहरसा से सिमरी बख्तियारपुर की ओर आ रहा है। प्राप्त सूचना का सत्यापन व वरीय अधिकारीयों को जानकारी देते हुए थाना के एसआई पंकज गुप्ता को पुलिस बलों के साथ कार्रवाई के लिए निर्देशित किया गया। पुलिस बलों ने हुसैन चक चौक पर वाहन चेकिंग शुरू किया गया, इस दौरान पुलिस चेकिंग होते देख एक ऑटो से एक युवक भागने लगा जिसे पुलिस बलों द्वारा खदेड़ कर हिरासत में ले लिया।

हिरासत में लिए गए युवक से जब पुछताछ किया गया तो उसकी पहचान सौनवर्षा कचहरी थाना क्षेत्र के बलुआहा निवासी सौरभ डिसूजा के रूप में की गई जो जेई गोलीकांड का अप्राथमिक आरोपी हैं। उसके पास से दो मोबाइल जब्त की गई।‌

यहां बताते चलें कि बिजली विभाग कठडुमर में पदस्थापित जेई रवि रंजन को धनतेरस के दिन सिमरी बख्तियारपुर बाजार से खरीददारी कर वापस अपने आवास माखन टोला आ रहा था इस दौरान अज्ञात बदमाशों ने भीड़ का फायदा उठाकर गोली मारकर दी। गंभीर रूप से जख्मी जेई को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया। इस संबंध में जेई की पत्नी प्रियंका कुमारी ने केस दर्ज कराया था।‌

पुलिस केस दर्ज कर मामले की छानबीन शुरू किया। अनुसंधान उपरांत के क्रम उद्भेदन हुआ कि जेई की हत्या करने को लेकर गौतम पासवान, भंवरी के द्वारा तीन लाख रुपए में सुपारी दी गई थी। इस मामले में पुलिस ने अब तक रंगिनियां निवासी रिशव सिंह उर्फ छोटू, पारस भगत उर्फ पारस कश्यप को पहले ही गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। वर्तमान में सौरभ डिसूजा की गिरफ्तारी हुई है।‌ गिरफ्तार डिसूजा से आवश्यक पुछताछ उपरांत न्यायिक हिरासत में न्यायालय भेज दिया गया।