तत्कालीन सिमरी पंचायत के वार्ड नं 4 की घटना, डेढ़ साल पहले बना था जलमीनार

सिमरी बख्तियारपुर(सहरसा) मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का ड्रीम प्रोजेक्ट सात निश्चय योजना के तहत पंचायतों में शुद्ध पेयजल के लिए लगाएं गए जलमीनार की गुणवत्ता व पानी की शुद्धता को लेकर हमेशा सवाल उठते रहा है। आए दिन जलमीनार धरासाई होने, शुद्ध पेयजल आपूर्ति नहीं होने की खबर सामने आते रहता है।

इसी क्रम में सिमरी बख्तियारपुर प्रखंड के तत्कालीन सिमरी पंचायत के वार्ड नं 4 नाई टोला में करीब डेढ़ वर्ष पूर्व लगा जलमीनार का पानी टंकी मंगलवार दोपहर फट गया। अचानक पानी भरे टंकी फट जाने से आसपास के लोगों में अफरा तफरी मच गया। हालांकि जान माल का कोई नुक़सान नहीं हुआ।

वर्तमान नगर परिषद के वार्ड 13 के पार्षद पति मो. कमर आलम ने बताया कि तत्कालीन वार्ड 4 वर्तमान में 13 बन गया है। गुणवत्ता की कमी निर्माण के समय ही देखने को मिला था। लेकिन इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया गया। आज उसका परिणाम है कि पानी टंकी फट धरासाई हो गया। गुणवत्ता की कमी आज उजागर हो गई है।

वहीं इस संबंध में पीएचईडी विभाग के जेई नीरज निराला से पुछे जाने पर बताया कि टंकी फट जानें का मामला संज्ञान में आया है। दो दिनों के अंदर टंकी बदलबा दिया जाएगा।‌