कांडों के निष्पादन में बरती गई लापरवाही के लिए एसपी की कार्रवाई

सहरसा से वरिष्ठ पत्रकार अनिल वर्मा की रिपोर्ट : जिले में कार्यरत 16 पुलिस पदाधिकारियों के खिलाफ एसपी ने बड़ी कार्रवाई की है। सहरसा एसपी उपेंद्र नाथ वर्मा ने शुक्रवार को 3 सौ दिनों से अधिक समय से लंबित कांडों के निष्पादन में बरती गयी लापरवाही एवं शिथिलता के लिये थानाध्यक्षों, ओपी अध्यक्षों, पुलिस शिविर प्रभारियों एवं अनुसंधानकर्ताओं का वेतन बंद करने का निर्देश दिया है।

जिले के 16 पुलिस पदाधिकारियों के खिलाफ यह कार्रवाई हुई है। जिन पुलिस अधिकारियों के वेतन पर रोक लगा है उनमें, सदर थानाध्यक्ष सुधाकर कुमार, अपर थानाध्यक्ष सौरबाजार राजेश कुमार, ओपी अध्यक्ष पतरघट ज्ञानानन्द अमरेन्द्र, पुलिस शिविर प्रभारी बैजनाथपुर संजय दास, थानाध्यक्ष बिहरा अकमल हुसैन, थानाध्यक्ष महिषी शिवशंकर कुमार, थानाध्यक्ष नवहट्टा सरोज कुमार, थानाध्यक्ष बनगांव विनोद कुमार, थानाध्यक्ष सलखुआ गुड्डू कुमार शामिल हैं।

इनके अलावा थानाध्यक्ष बसनही अविनाश कुमार, बैजनाथपुर थाना पुलिस अवर निरीक्षक संजय कुमार सिंह, बिहरा थाना पुलिस अवर निरीक्षक रामव्रत प्रसाद, सौरबाजार थाना पुलिस अवर निरीक्षक संजय कुमार, सदर थाना पुलिस अवर निरीक्षक सुशील कुमार मरांडी, बिहरा थाना पुलिस अवर निरीक्षक चन्द्रशेखर तांती और महिषी थाना पुलिस अवर निरीक्षक सत्यजीत फौजदार का वेतन बंद करने का निर्देश एसपी ने दिया है।

एसपी की इस कार्रवाई से जिले के पुलिस महकमें में हड़कंप मच गया है। यहां बतातें चले कि आए दिन पुलिस पदाधिकारियों के बैठक में कांड अनुसंधान में किसी प्रकार की लापरवाही नहीं बरतने की कड़ी हिदायत दी जाती रही है। इसके बावजूद कई कांड कई कारणों से निष्पादित नहीं हो पाता है वहीं कई कांडों के निष्पादन में वर्क लोड वजह बनती है।