अन्य आरोपी की गिरफ्तारी के लिए लगातार की जा रही है छापेमारी : डीएसपी

सिमरी बख्तियारपुर (सहरसा) गत दिनों नगर क्षेत्र में बाइक सवार बदमाशों द्वारा की गई सीरियल फायरिंग मामले में पुलिस दबिश के कारण एक आरोपी सलखुआ थाना क्षेत्र के गौसपुर गांव निवासी महेश्वर यादव का पुत्र राजा कुमार ने सहरसा न्यायालय में आत्मसमर्पण कर दिया।

आत्मसमर्पण की पुष्टि करते हुए सिमरी बख्तियारपुर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी इम्तियाज अहमद ने बताया कि बाकी बचे बदमाशों की गिरफ्तारी के लिए लगातार छापेमारी कर रही है। अगर बदमाश गिरफ्तार नहीं होंगे तो इनके घरों की कुर्की ज़ब्ती की जाएगी।

उन्होंने बताया कि घटना के बाद से ही बख्तियारपुर पुलिस द्वारा घटना में शामिल अपराधियों के संभावित ठिकानों पर निरंतर छापेमारी कर रही थी। पुलिस दबिश के कारण राजा कुमार ने सहरसा न्यायालय में आत्मसमर्पण कर दिया।

बतातें चलें कि 24 अक्टूबर तो दो बाइक पर सवार पांच अपराधियों द्वारा नगर क्षेत्र के मुरली चौक और उच्च विद्यालय के समीप फायरिंग करते हुए पुरानी बाजार स्थित रॉयल लाइन होटल के समीप फायरिंग कर हॉकी स्टिक से होटल का शीशा क्षतिग्रस्त कर दिया था।

पुनः इन्हीं अपराधियों द्वारा 25 अक्टूबर को भी नगर के मुरली चौक, काली मंदिर चौक, मुख्य बाजार फायरिंग की घटना को अंजाम देकप फरार हो गया था। बख्तियारपुर पुलिस ने इस गोलीबारी मामले को लेकर थाना में पदस्थापित ज्वाला प्रसाद के बयान पर बाइक सवार 5 अपराधी गुड्डू कुमार, श्याम कुमार, बेचन कुमार, राजा कुमार और सचिन कुमार पर प्राथमिकी दर्ज किया था।

इस घटना को लेकर नगर के व्यवसायियों द्वारा एक बैठक कर अपराधियों की गिरफ्तारी की मांग करते हुए आंदोलन करने की चेतावनी भी दिया था। जिसके बाद से ही पुलिस अपराध में शामिल अपराधियों की ठीकानों पर लगातार छापेमारी कर रही थी और पुलिस द्वारा अपराधियों की गिरफ्तारी हेतु न्यायालय से गैर जमानतीय वारंट भी प्राप्त कर लिया था और 24 घंटे के अंदर अपराधियों के फरार रहने की स्थिति उनके घर कुर्की जब्ती भी करने की बात कही थी। अब देखने वाली बात होगी कि अन्य चार बदमाश कब गिरफ्तार होते हैं या आत्मसमर्पण करते हैं।