क्राइम कंट्रोल सहित विभिन्न मसलों से कराया अवगत

सिमरी बख्तियारपुर (सहरसा) बख्तियारपुर थाना क्षेत्र में विगत दिन हुए सीरियल फायरिंग मामले को लेकर अपराधियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर व्यवसाई का एक प्रतिनिधिमंडल ने गुरुवार को डीएम एवं एसपी से मुलाकात कर वार्ता की।

शिष्टमंडल की अगुवाई कर रहे जदयू नेता चन्द्रमणि ने बताया सिमरी बख्तियारपुर बाजार के विभिन्न हिस्सों में बीते दिनो बाइक सवार अपराधियों के द्वारा फायरिंग की गई थी। जिसपर अब तक स्थानीय पुलिस द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की गई.इस तरह अपराधियों के मनोबल को देख पूरे नगर परिषद में भय का माहौल है। साथ ही स्थानीय सभी व्यवसायियों में काफी आक्रोश व्याप्त है।

जदयू नेता ने कहा कि थाने में सभी शांति समिति की बैठक में छिटपुट घटना की जानकारी पुलिस को दी जाती रही है। जैसे आए दिन कानू टोला, हटिया गाछी, पोखर क्षेत्र, रेलवे ढाला के समीप असामाजिक तत्व एवं अपराधिक कुख्यात अपराधियों का जमावड़ा रहता है और वह सभी ऐसी जगह के आसपास अस्थाई तौर पर रहते हुए गोली चलाना, चोरी, छीना झपटी, बाइक की चोरी जैसी घटना को लगातार अंजाम देते रहते हैं।

सभी घटनाओं की जानकारी के बावजूद पुलिस प्रशासन कोई भी कार्रवाई नहीं करती है। जिस कारण अपराधियों का मनोबल बढ़ता गया और घटना को अंजाम दिया जाता रहा। व्यवसायियों ने बताया कि बाजार के इर्द – गिर्द खुलेआम शराब एवं कई तरह के नशीले पदार्थ का बिक्री होना पुलिस प्रशासन को जानकारी होते हुए संलिप्तता को उजागर करता है।

वहीं विभिन्न तरह के अपराधियों को थाना पुलिस से सांठ – गांठ होने के कारण घटना घटी है जबकि पुलिस मूकदर्शक बनी रहती है। विगत कई वर्षों से रात्रि गश्ती सिर्फ खानापूर्ति के लिए की जाती है।

विगत दिनों हुए बैठक में घटना में संलिप्त अपराधियों को गिरफ्तार करने, चिन्हित जगह कानू टोला हटिया गाछी, पोखर रोड रेलवे ढाला, डीसी कॉलेज रोड, हाई स्कूल मैदान एवं एनएच 107 रोड पर अपराधियों का जमावड़ा पर अंकुश लगाते हुए पुलिस के साथ स्थाई पुलिस पिकेट स्थापित करने, अपराधियों को चिन्हित कर सख्त कार्रवाई करने, अपराधिक मामलों का उद्भेदन करने, थाना में अपराधियों का जमावड़ा रोकने, बख्तियारपुर थाना प्रभारी को अविलंब हटाने के साथ – साथ सभी अपराधियों के विरुद्ध कार्यवाही कर गिरफ्तार करने की मांग की है।

व्यवसायियों ने कहा कि पुलिस प्रशासन के द्वारा अति शीघ्र ठोस कार्रवाई कर गिरफ्तारी नहीं करने पर प्रशासन के खिलाफ संवैधानिक तरीके से चरणबद्ध आंदोलन किया जाएगा। इसकी सारी जिम्मेदारी प्रशासन की होगी।

इस मौके पर मो हस्सान आलम, सुशील जयसवाल, संजीव कुमार, कुमार दानिश, विवेक भगत, विपिन कुमार, राम कुमार, श्याम भारती, संजय पवार, चिंटू कुमार, आदेश कुमार, शिवचंद्र प्रसाद यादव, अभिनंदन प्रसाद सहित अन्य मौजूद थे।