केस दर्ज होने के बाद डायरेक्टर फरार, इंस्पेक्टर ने घटनास्थल का लिया जायजा

सिमरी बख्तियारपुर(सहरसा) ब्रजेश भारती : प्रखंड क्षेत्र के बलवाहाट ओपी क्षेत्र के सरौजा पंचायत के नवटोलिया स्थित आवासीय नेशनल पब्लिक स्कूल के डायरेक्टर बिक्रम गुप्ता उर्फ बंटी द्वारा वर्ग तीन के छात्र परितोष कुमार की निर्मम पिटाई मामले में केस दर्ज होने के बाद आरोपी डायरेक्टर फरार हो गया है।

स्कूल में जांच करने पहुंचे इंस्पेक्टर सहित अन्य लोग

आरोपी डायरेक्टर बिक्रम गुप्ता उर्फ बंटी की गिरफ्तारी के लिए पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है। वहीं केस दर्ज होने के बाद शनिवार को सर्किल इंस्पेक्टर आर पी यादव व कांड के अनुसंधानकर्ता घटनास्थल आवासीय नेशनल पब्लिक स्कूल पहुंचे और जांच पड़ताल कर वहां मौजूद छात्रों एवं शिक्षकों से आवश्यक जानकारी प्राप्त किया। उन्होंने बताया कि डायरेक्टर पर कई गंभीर आरोप लगाए गए है। जिसकी जांच – पड़ताल की गई। जांच के दौरान विद्यालय के बच्चो से भी जानकारी ली गई।

क्या है मामला : यहां बतातें चले कि सिमरी बख्तियारपुर प्रखंड के बलवाहाट ओपी क्षेत्र के महम्मदपुर पंचायत के भवदेवा, बैडी गांव निवासी पूर्व पैक्स अध्यक्ष फुलेश्वर यादव के पुत्र परितोष कुमार करीब तीन साल से सरोजा पंचायत के नवटोलिया स्थित आवासीय नेशनल पब्लिक स्कूल के छात्रावास में रह कर पढ़ाई कर रहा था।

स्कूल का डायरेक्टर बिक्रम गुप्ता उर्फ बंटी, इसी पर लगा है पिटाई का आरोप

इस दौरान 17 सितंबर व 25 सितंबर को किसी बात को लेकर छात्र की पिटाई स्कूल के डायरेक्टर बिक्रम गुप्ता उर्फ बंटी के द्वारा की गई। लेकिन इस बात की जानकारी अभिभावक को नहीं दिया गया। यह बात तब उजागर हुआ जब दुर्गा पूजा की छुट्टी होने पर बच्चे को घर ले जाने बच्चे के पिता स्कूल पहुंचे‌ तो पीड़ित छात्र ने पिटाई की दास्तां पिता को बताई।‌‌

ये भी पढ़ें : हॉस्टल में रह रहे वर्ग 3 के छात्र की बेरहमी से पिटाई, अस्पताल में भर्ती

उसके बाद पिता ने जख्मी पुत्र को अस्पताल में भर्ती करा इलाज कराया और आरोपी स्कूल के डायरेक्टर बिक्रम गुप्ता उर्फ बंटी पर लिखित आवेदन देकर पुलिस में पुत्र की पिटाई का मामला दर्ज कराया। हालांकि डायरेक्टर ने पिटाई के आरोप को खारिज कर दिया लेकिन छात्र के नितंब पर जख्म के निशान इस बात का गवाही दे रहा है कि बहुत ही बेरहमी से पिटाई की गई है।

चलते चलते ये भी पढ़ें : पर्दे की पीछे से नहीं आगे से हुआ खेल, शाहनवाज हुसैन ने बताया कैसे और कब हुआ बिहार में सियासी खेला