एक दर्जन से अधिक छात्रों ने अच्छे परसेंटाइल के साथ पाई सफलता

सहरसा : नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) ने दो चरणों में आयोजित की गई संयुक्त प्रवेश परीक्षा (मुख्य) 2022 यानि जेईई मेन के 25 से 30 जुलाई तक आयोजित दूसरे चरण के नतीजों की घोषणा कर दी है। सहरसा जिले के कहरा ब्लॉक रोड स्थित प्रगति क्लासेज के एक दर्जन से अधिक छात्रों ने अच्छे अंकों के साथ सफलता प्राप्त किया है।

संस्था के गगन कुमार ने 97.26 परसेंटाइल के साथ 24775 जेनरल रैंक तो एससी रैंक 717 प्राप्त किया। वहीं कृष्ण कुमार यादव ने 95.74 परसेंटाइल के साथ जनरल रैंक 56155, ओबीसी रैंक प्राप्त किया। नवनीत कुमार ने 95.61 परसेंटाइल के साथ जनरल रैंक 39394 व ओबीसी रैंक 10649 प्राप्त किया। वही नेहा कुमारी ने परसेंटाइल 95.25 के साथ जनरल रैंक 42759 व ओबीसी रैंक 11666 प्राप्त किया। अंजलि कुमारी श्रेया ने 93.82 परसेंटाइल के साथ जनरल रैंक 55606 व ओबीसी रैंक 15556 प्राप्त किया।

ये भी पढ़ें : सहरसा : प्रगति क्लासेज के छात्रों ने फिर NEET परीक्षा लहराया परचम

ज्योति कुमारी ने परसेंटाइल 93.41, जनरल रैंक 59149, ओबीसी रैंक 8655 प्राप्त किया। करुणा ने परसेंटाइल 92.54, जनरल रैंक 66975, ओबीसी रैंक 19095 प्राप्त किया। दिव्यांशी झा ने परसेंटाइल 92.66 व अभिषेक कुमार ने परसेंटाइल-90.96, आशीष कुमार 89.28 परसेंटाइल के साथ परीक्षा में सफलता प्राप्त किया।

ये भी पढ़ें : प्रगति क्लासेज ने अपने छात्रों के लिए ओपन मोटिवेशन सेशन प्रोग्राम आयोजित की

प्रगति क्लासेज के संस्थापक नंदन कुमार ने सफल छात्र-छात्राओं को बधाई देते हुए कहा कि वे कोशी क्षेत्र के बच्चों को अच्छी से अच्छी शैक्षणिक सुविधाएं देने के लिए प्रतिबद्ध हैं, जिससे बच्चें सफलता प्राप्त कर अपने माता-पिता और समाज का नाम रोशन कर सकें। उन्होंने कहा कि एक दर्जन बच्चों ने सफलता प्राप्त किया है।

ये भी पढ़ें : महिषी : महादलितों के बीच शिक्षा का अलख जगाने की हुई शुरुआत,पाठ्य सामग्री वितरित

संस्थान के निदेशक डॉ चंदन कुमार ने इस सफलता का श्रेय बच्चों के कड़ी मेहनत, सभी शिक्षकों के सही मार्गदर्शन तथा अन्य कर्मियों के सहयोग को देते हुए कहा कि वे भविष्य में और भी अच्छे परिणाम देने के लिए कटिबद्ध हैं। उन्होंने कहा कि अब कोशी जैसे पिछड़े क्षेत्र से बच्चे अच्छे परिणाम के साथ परीक्षा में सफलता प्राप्त कर रहे हैं यह बेहतर भविष्य की ओर इशारा कर रही है।

चलते चलते ये भी पढ़ें : Success Story: एक साल में चार नौकरी, फिर शादी के 30वें दिन ही BPSC क्लियर कर गई बहू