दो व्यक्ति का लदा 19 बोरा गेहूं सहरसा ले जाने के दौरान पुलिस ने किया था जब्त

सिमरी बख्तियारपुर (सहरसा) ब्रजेश भारती : बख्तियारपुर थाना पुलिस ने थाना क्षेत्र से कालाबाजारी के लिए ले जाने के शक के आधार पर ऑटो में लदा 19 बोरा गेहूं जब्त कर थाना लाया। वहीं प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी ने जाचोंउपरांत जब्त गेहूं को सरकारी खाद्यान्न नहीं होने की बात कह क्लीन चिट दे दिया, जिसके बाद पुलिस ने खाद्यान्न सहित ऑटो को छोड़ दिया।

घटना के संबंध में प्राप्त जानकारी के अनुसार बख्तियारपुर के एसआई रुपचद उरांव गस्ती के दौरान एक ऑटो पर लगा गेहूं को रोक पुछताछ किया। ऑटो पर दो व्यक्ति का गेहूं पाया गया। पुलिस को शक हुआ कि कालाबाजारी के लिए सरकारी गेहूं ले जाया जा रहा है। ऑटो को गेहूं सहित जब्त करते हुए थाना लाया।

मामले की जानकारी एसडीओ सिमरी बख्तियारपुर को दिया। एसडीओ ने प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी केशव कुमार को मामले की जानकारी देते हुए अग्रतर कार्रवाई करने का निर्देश दिया। एसडीओ के निर्देश पर बीएसओ ने बख्तियारपुर थाना पहुंच जब्त गेहूं की छानबीन किया।

छानबीन उपरांत बीएसओ ने बख्तियारपुर थाना को लिखित आवेदन देते हुए कहा कि देखने से प्रतीत होता है कि जब्त की गई गेहूं सरकारी नहीं है। इस संबंध में बख्तियारपुर थाना के प्रभारी थानाध्यक्ष महेश रजक ने बताया कि बीएसओ के लिखित आवेदन बाद जब्त ऑटो सहित गेहूं को मुक्त कर दिया गया।

यहां बतातें चलें कि इन दिनों सिमरी बख्तियारपुर अनुमंडल क्षेत्र में खाद्यान्न कालाबाजारी का मामला बड़े पैमाने पर सामने आ रहा है। गत दिनों बनमाईटहरी ओपी क्षेत्र के खुरेशान गांव में एक स्कूल में ग्रामीणों ने रात के अंधेरे में कालाबाजारी के लिए पीकअप पर लदा चावल पकड़ पुलिस के सुपुर्द कर दिया। वहीं सलखुआ में आज 63 बोरा कालाबाजारी के लिए ले जा रहा खाद्यान्न जब्त एफआईआर दर्ज किया गया है।

चलते चलते ये भी पढ़ें : रात के अंधेरे में बच्चे के एमडीएम का निवाला बेच रहे थे एचएम, ग्रामीणों ने पुलिस दी सूचना