रविवार सुबह इंडिया के लिए हंगरी से पकड़ा विमान, केन्द्रीय मंत्री ने एयरपोर्ट पर किया स्वागत

ब्रजेश भारती : सिमरी बख्तियारपुर (सहरसा) रूस और यूक्रेन के बीच जारी युद्ध के बीच भारत से यूक्रेन मेडिकल की पढ़ाई के लिए गए गए छात्रों को भारत सरकार द्वारा भारत लाने का सिलसिला जारी है। ऑपरेशन गंगा के तहत यूक्रेन से सटे देशों से बच्चो को विशेष विमान द्वारा भारत लाया जा रहा है।

इसी कड़ी में सलखुआ थाना अंतर्गत अलानी निवासी शंकर दयाल के पुत्र वेद व्यास भी शामिल है। जो जल्द ही भारत लौटेंगे। पूर्वी कोसी तटबंध के अंदर के सुदूर गांव अलानी गांव से यूक्रेन पहुंचे वेद व्यास ने दूरभाष पर हमारे संवाददाता को बताया कि जल्द ही वह एयर इंडिया की विशेष विमान से भारत आ रहे है।

ये भी पढ़ें : सफेद गुलाब हाथ में लिए बच्चों ने कहा- नो वॉर प्लीज़…

उन्होंने बताया कि वो युद्ध के बीच हंगरी आए जहां से रविवार सुबह विमान से इंडिया के लिए रवाना हुए। उन्होंने बताया कि एयर पोर्ट पर बहुत छात्र है जो वतन वापसी के इंतजार में है। उन्होंने बताया कि उक्रेन में हर तरफ तबाही देखने को मिल रही थी, हर तरह बमबारी से ध्वस्त मकान सहित इलाके नजर आ रहे हैं।

छात्र वेद ने बताया कि वह बीते वर्ष नवंबर महीने एमबीबीएस की पढ़ाई के उद्देश्य से यूक्रेन आया था। वेद ने बताया कि वह यूक्रेन के उजहोरोद शहर में स्थित उजहोरोद नेशनल यूनिवर्सिटी में पढ़ाई कर रहे थे। वेद ने बताया कि यूक्रेन से उन्होंने भारत सरकार के मदद से हंगरी के बॉर्डर को क्रोस किया और बुडापेस्ट के एयरपोर्ट से वे फ्लाइट पकड़ कर भारत आ रहे है।

समाचार लिखे जाने तक वो दिल्ली पहुंच गए जहां केन्द्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने स्वागत किया। वेद ने बताया कि वह दिल्ली से भारत सरकार द्वारा पटना के लिए विशेष विमान से भेजें जा रहें हैं। जल्द वो घर आ जाएंगे।