कदाचार पर सख्त रुख रहा प्रशासन का, डीएम एसपी ने लिया जायजा

सहरसा/भार्गव भारद्वाज : जिले में मंगलवार को इंटरमीडिएट परीक्षा प्रारंभ हो गई। कदाचार मुक्त परीक्षा संचालन को लेकर वीक्षकों सहित सभी मजिस्ट्रेट व पुलिस बल चुस्त दुरुस्त देखा गया। इंटरमीडिएट की परीक्षा को लेकर जिले में 19 केन्द्रों बनाए गए हैं। इन केंद्रों पर 18 हजार 616 परिक्षार्थियों शामिल हुआ।

छात्राओं की सुविधा को लेकर सिमरी बख्तियारपुर में दो केंद्र बनाए गए थे। जबकि जिला मुख्यालय में 17 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे। इंटर विज्ञान परीक्षा में कुल 8471 परीक्षार्थी शामिल हुए। जबकि कला विषय में 9724 एवं वाणिज्य विषय में 421 परीक्षार्थी शामिल होने वाले हैं। परीक्षा के लिए जिला मुख्यालय के मनोहर उच्च विद्यालय पूरब बाजार एवं आरएम विधि महाविद्यालय को आदर्श परीक्षा केंद्र बनाए गए थे।

जबकि सिमरी बख्तियारपुर में उच्च विद्यालय व प्रोजेक्ट कन्या उच्च विद्यालय को आदर्श परीक्षा केंद्र बनाया गया था। कदाचार मुक्त परीक्षा संचालन के लिए इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों पर पूर्णतया प्रतिबंध लगा रहा। सभी परीक्षा कक्षों में जैमर व सीसीटीवी कैमरे लगाए गए थे। परीक्षा के लिए लगभग 750 वीक्षकों की तैनाती की गई थी। परीक्षा के प्रथम दिन प्रथम पाली में गणित एवं द्वितीय पाली में हिंदी विषय की परीक्षा आयोजित की गई।