पीड़ित पक्ष की ओर से महिला ने सलखुआ थाना को लिखित आवेदन देकर लगाया न्याय की गुहार
  • पुराने जमीन विवाद को लेकर वर्षों से चल रहा है दो पक्षों में झगड़ा, कई बार हो चुका पंचायत

सिमरी बख्तियारपुर (सहरसा) ब्रजेश भारती। बख्तियारपुर पुलिस सर्किल क्षेत्र के सलखुआ थाना क्षेत्र के गोरदह गांव में गुरुवार को दर्जनों हथियार बंद नामजदों ने गुलाय यादव के घर पर हमला कर घर के एस्बेस्टस को तोड़-फोड़ करते हुए घर में लूटपाट करते हुए दरबाजे पर बंधा नौ भैंस, चार गाय सहित दो नाबालिग 12 वर्षीय बमबम कुमार एवं 15 वर्षीय रीतेश कुमार को अगवा कर लिया।

इस संबंध में गृहस्वामी की पीड़ित पत्नी आभा देवी ने सलखुआ थाना पहुंच पुलिस को लिखित आवेदन देकर न्याय की गुहार लगाया है। दिए गए आवेदन में पीड़िता ने कहा कि लक्ष्मी यादव, उमेश यादव, दुखन यादव रबेन यादव, निर्मल यादव, नरेश यादव, संतोष यादव, अमरेश यादव, सोचो यादव, अमर यादव, मुकेश यादव सहित 34 नामजदों के द्वारा एकमत होकर हरबे-हथियार , लाठी डंडे, भाला, फरसा से लैस होकर अचानक हमला कर दिया।

उपरोक्त लोगों ने दिनेश यादव, सदानंद यादव, गुलाय यादव, कृष्ण देव यादव, रामजतन यादव के घरों में तोड़फोड़ करते हुए एलईडी टीवी, मोबाइल, गैस सिलेंडर, बिजली मोटर, पंखा, बक्सा सहित लाखों की संपत्ति लूटते हुए दरबाजे पर रखा टेम्पू का शीशा तोड़ते हुए विनोद यादव के दरबाजे पर रखा ट्रेक्टर के टायर में गोली मार दिया। वहीं उपरोक्त लोगों ने भूंसा लेकर आ रहे गुलाय यादव के पुत्र रीतेश कुमार एवं रामजतन यादव के पुत्र बमबम कुमार को अगवा कर लिया। वहीं उपरोक्त नामजदों ने दरबाजे पर बंधा नौ भैंस एवं चार को भी खोल पीट लिया।

यहां बताते चलें कि गोरदह गांव में वर्षों से दो पक्षों में जमीनी विवाद को लेकर झगड़ा चलता आ रहा है। आए दिन गोलीबारी, मारपीट, केस मुकदमा आम बात हो गई है। मामले को लेकर कई बार सीओ व थानाध्यक्ष से लेकर एमपी एमएलए के स्तर तक पंचायत भी हुई लेकिन कोई निराकरण नहीं निकला। उपरोक्त घटना को भी पुराने मामले से जोड़ कर देखा जा रहा है।

पुरे मामले पर थानाध्यक्ष सलखुआ अनिल कुमार सिंह ने बताया कि गांव में किसी प्रकार का तनाव नहीं उत्पन्न हो इसलिए दण्डाधिकारी के रूप में सीआई ब्रजनंदन सिंह सहित थाना के पुलिस पदाधिकारी एएसआई ददन यादव सहित आधा दर्जन पुलिस कर्मी की तैनाती की गई है।