ओबीसी प्रमाण पत्र में मेनुअल व डीजिटल हस्ताक्षर के फेर कर दिया गया रिजेक्ट

सहरसा से अमन कुमार की रिपोर्ट : बिहार के कटिहार सेना भर्ती कैंप में सहरसा जिले के सैकड़ों छात्रों को ओबीसी प्रमाण पत्र में मेनुअल व डीजिटल हस्ताक्षर के फेर में रिजेक्ट कर दिया है। अब रिजेक्ट किए छात्र अपने भविष्य को लेकर चिंतित हैं वहीं न्याय की उम्मीद लगाए कैंप पर डटे हुए हैं कि कोई तो होगा जो इन छात्रों को न्याय दिलाने का काम करेगा।

कैंप कटिहार, सांकेतिक चित्र

सेना भर्ती दक्षता परीक्षा में उत्तीर्ण छात्र रौशन कुमार, राहुल कुमार, दिलखुश कुमार, अनीश कुमार, मनदीप कुमार, आलोक कुमार, बंटी कुमार सहित अन्य छात्रों ने बताया कि हमलोग दक्षता परीक्षा बाद जरूरी कागजात बनवाने के क्रम में ओबीसी प्रमाण पत्र अनुमंडल पदाधिकारी के कार्यालय सहरसा गए। वहां कुछ तकनीकी कारणों से एसडीओ का हस्ताक्षर के मेनुअल वाला प्रमाण पत्र निर्गत किया गया।

ये भी पढ़ें : सहरसा : आखिरकार जिंदगी की जंग हार गए सेना के वीर जवान निजाम, सुपुर्द ए खाक

हमलोग प्रमाण पत्र लेकर कैंप कटिहार गए तो वहां बताया गया कि यह प्रमाण पत्र सही नहीं है सिर्फ डिजिटल हस्ताक्षर युक्त प्रमाण पत्र ही मान्य होगा। इस बात पर छात्रों ने एसडीओ कार्यालय से संपर्क किया तो बताया गया कि डिजिटल हस्ताक्षर वाला भी प्रमाण पत्र बन गया है।

हमलोग जब प्रमाण पत्र डाऊनलोड करके प्रिंट करवा कर भर्ती कैम्प के बाहर गया तो हमें डंडे से मारकर भगा दिया गया। सहरसा जिले सेना भर्ती शाररिक दक्षता जाँच परीक्षा में उत्तीर्ण लगभग सौ से ज्यादा अभ्यर्थी सेना भर्ती कैम्प कटिहार के बाहर डटे हुए हैं। इन लोगों का कहना है कि हमारी क्या गलती है। इन लोगों ने बताया कि जब तक हम लोगों को इंसाफ नहीं मिलेगा हम लोग डटे रहेंगे।

चलते चलते ये भी पढ़ें : बिहार : समस्तीपुर में जानकी एक्सप्रेस से भिड़ी जेसीबी, इंजन क्षतिग्रस्त-यात्री सुरक्षित https://www.amarujala.com/bihar/patna/bihar-samastipur-train-collide-with-jcb-engine-both-engine-damaged-no-passenger-injured