सिमरी – रानीबाग पथ पर बिना बोर्ड लगाए चल रहा है दो स्थानों पर पुलिया निर्माण

सिमरी बख्तियारपुर (सहरसा) ब्रजेश भारती। सहरसा जिले के सिमरी बख्तियारपुर प्रखंड के रानीहाट से सिमरी गांव की ओर जाने वाली मुख्य सड़क में दो स्थानों पर आरसीसी पुलिया का निर्माण किया जा रहा है। जिस पुलिया निर्माण में घटिया सामग्री का उपयोग किये जाने की शिकायत के बाद विधायक यूसुफ सलाउद्दीन तथा बीडीओ मनोज कुमार ने स्थल पर पहुंच मामले की जांच पड़ताल किया।

विधायक और बीडीओ की संयुक्त जांच में पुलिया के निर्माण कार्य की पोल खुल गई। जांच के दौरान पाया गया कि पुलिया निर्माण में धड़ल्ले से घटिया सामग्री का उपयोग संवेदक के द्वारा किया जा रहा है। वहीं स्थल पर न तो कार्य से संबंधित बोर्ड कहीं भी लगा दिखाई दिया, और न हीं स्थल पर जेई व संवेदक मौजूद दिखे। इतना ही नहीं निर्माण कार्य दो-तीन मजदूरों के भरोसे किया जा रहा था जो वहां मौजूद मिले।

ये भी पढ़ें : राजद विधायक ने आधी रात को किया अस्पताल का औचक निरीक्षण, कुव्यवस्था पर विफरे

जिस मजदूर के भरोसे निर्माण कार्य होता देख तथा घटिया सामग्री का उपयोग करता देख विधायक भड़क उठे। वहीं मजदूरो से पूछे जाने पर उसने भी नहीं बता पाया कि किस विभाग से निर्माण कार्य हो रहा है। इसके अलावा पुलिया निर्माण के बगल में संवेदक के द्वारा डायवर्सन भी सही से नहीं बनाया गया। जिस कारण आवाजाही करने वाले कई वाहन उस बनाये गये डायवर्सन में फंस जा रहे थे।

क्या कहा विधायक ने : विधायक युसूफ सलाउद्दीन ने कहा कि पुलिया निर्माण में गुणवत्ता का कमी पाया गया। स्थल पर सिर्फ मजदूर के भरोसे निर्माण कार्य किया जा रहा है। वहीं पुलिया के बगल में बनाया गया डायवर्सन भी सही नहीं है। इन सबों को लेकर कार्यपालक अभियंता को निर्माण कार्य सही से करने को कहा गया है।

क्या कहते हैं बीडीओ : बीडीओ मनोज कुमार ने बताया कि पुलिया निर्माण में लगाये गए बालू निम्न स्तर का था। जबकि पुल में इस तरह का बालू का उपयोग नहीं किया जाता है। विधायक जी ने बालू का सेम्पल लिये हैं जांच कराने के लिए। जिसकी जांच की जाएगी।