समन्वय स्थापित कर लोगों को मुहैया कराएं रोजगार: डीएम

सहरसा : शुक्रवार को जिलाधिकारी कौशल कुमार ने जिला औद्योगिक नवप्रवर्तन योजना अंतर्गत एवं वित्तपोषण के माध्यम से कोविड-19 लॉकडाउन में वापस आए प्रवासी श्रमिकों द्वारा संस्थापित मसाला उत्पादन इकाई एवं सिमरी बख्तियारपुर प्रखंड में फर्नीचर इंडस्ट्रीज का उद्घाटन किया।

मौके पर संबोधित करते हुए सभी को मिलकर काम करने और इकाई का विस्तार करते हुए अधिक से अधिक लोगों को समूह में जोड़कर रोजगार मुहैया कराने का आग्रह किया। कहा कि अब आपका अपना रोजगार है। संस्थापित इकाई को सशक्त बनाएं। जरूरत होने पर विभिन्न योजनाओं के माध्यम से राशि भी उपलब्ध करायी जाएगी।

Advt.

सबसे पहले डीएम ने पटुआहा पंचायत के वार्ड नंबर छह में संस्थापित देव इंडस्ट्रीज (मसाला समूह) का फीता काटकर उद्घाटन किया। समूह के टीम लीडर से मसाला उत्पादन कार्य एवं आगे की रणनीति के बारे में जानकारी ली गई। समूह के अध्यक्ष सह टीम लीडर संतोष तिवारी ने जिलाधिकारी को बताया कि वे फरीदाबाद में काम करते थे।

समूह के अन्य 13 सदस्य भी फरीदाबाद, दिल्ली एवं अन्य स्थानों पर कारखानों एवं संस्थानों में काम करते थे। कोविड-19 के लॉकडाउन अवधि में वे अपने गांव वापस आए हैं। सरकार के मदद से अपनी जमीन पर उन्होंने मसाला उत्पादन के लिए यह इकाई लगाया है। देव मसाला ब्रांड से गुणवत्ता के साथ मसालों को तैयार कर एवं पैकेजिग कर स्थानीय बाजार में बेचने की योजना है।

Advt.

डीएम ने कहा कि ब्रांड नाम से गुणवत्ता के साथ अपने उत्पादों का सबसे पहले गांव एवं पंचायत के ग्रामीण क्षेत्रों में मार्केटिग की शुरूआत करें। उसके पश्चात शहरी क्षेत्र में चेंबर ऑफ कॉमर्स के सहयोग से अपने उत्पादों को पहुंचाएं। इस उद्योग में विस्तार की काफी संभावनाएं है।

सिमरी बख्तियारपुर प्रखंड के बरसम में स्थानीय स्तर पर प्रवासी श्रमिकों को रोजगार मुहैया कराने के उद्देश्य से जिला औद्योगिक नव प्रवर्तन योजना के अंतर्गत विश्वकर्मा फर्नीचर समूह का भी जिलाधिकारी ने उद्घाटन किया। इस अवसर पर उप विकास आयुक्त राजेश कुमार सिंह, महाप्रबंधक जिला उद्योग केन्द्र, संबंधित प्रखंड के प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं पंचायत के मुखिया तथा स्थानीय गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे।