एससीएसटी, महिला व सोनवर्षा कचहरी के थानाध्यक्ष पुरूस्कृत, क्राइम मीटिंग आयोजित
  • सलखुआ, पतरस्पार, बनमा, सदर के पुअनि मु. मजबुद्दीन से स्पष्टीकरण

सहरसा : नवपदस्थापित पुलिस अधीक्षक लिपि सिंह ने सोमवार को जिले के पुलिस पदाधिकारियों और थानाध्यक्ष के साथ बैठक कर कई निर्देश दिए। उन्होंने स्पष्ट रूप से कहा कि खराब छवि के लोगों को किसी भी सूरत में थाने में नहीं बैठने दें। बैठक में लक्ष्य से कम कांड के निष्पादन पर सदर थानाध्यक्ष समेत कई थानाध्यक्षों से स्पष्टीकरण पूछने का निर्देश दिया गया।

एसपी सहरसा लिपि सिंह

एसपी ने बैठक के प्रारंभ में कांड निष्पादन की समीक्षा करते हुए सभी से पूर्व में दिए गये लक्ष्यों की जानकारी ली गई। लक्ष्य पूरा करने वाले एससीएसटी, महिला व सोनवर्षा कचहरी के थानाध्यक्ष को 21 सौ नकद एवं सेवा सुशांक देकर पुरस्कृत किया गया जबकि लक्ष्य से काफी कम रहने पर सदर थानाध्यक्ष, सलखुआ, पतरस्पार व बनमा के ओपीध्यक्ष के अलावा सदर थाना के पुअनि मु. मजबुद्दीन से विभागीय कार्रवाई के विरूद्ध स्पष्टीकरण पूछने का निर्देश दिया।

अपराध नियंत्रण पर दिया जोर : एसपी ने कहा कि अपराध नियंत्रण के प्रति सभी थानाध्यक्ष व पुलिस पदाधिकारी सजग रहें। कहा कि अपराध पर नियंत्रण को लेकर जो भी करना पड़े उसमें कमी नहीं करें। इस मामले में वरीय अधिकारियों को भी पूरा सहयोग मिलेगा। एसपी ने पारदर्शी तरीके से काम करने का निर्देश देते हुए कहा कि वैसे व्यक्ति जिनकी छवि पहले से खराब हो उनको थाना में नहीं बैठने दें। यही नहीं अगर कोई व्यक्ति थाना पहुंचते हैं तो उनके साथ अच्छा व्यवहार कर उनके फरियाद को सुनें और यथासंभव कार्रवाई करें। उन्होंने सभी थानाध्यक्षों को जेल से जमानत पर छूटे बदमाशों की सूची बनाकर उनपर कड़ी निगरानी रखने का निर्देश दिया।

एसआइटी का किया गठन : शहरी क्षेत्र में गत दिनों हुए आपराधिक घटनाओं के खुलासे को लेकर एसपी ने सदर एसडीपीओ संतोष कुमार के नेतृत्व में एसआइटी का गठन किया। एसआइटी में सदर थानाध्यक्ष राकेश कुमार सिंह, सदर इंस्पेक्टर राजमणि, सोनवर्षा कचहरी थानाध्यक्ष ज्ञानेंद्र अमरेंद्र, गोपनीय शाखा के मंगलेश मधुकर को शामिल किया गया है।

सुदृढ़ रहे यातायात व्यवस्था : एसपी ने शहर में यातायात व्यवस्था को पूरी तरह सुदृढ़ रखने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि सुचारू व्यवस्था के लिए संसाधन मुहैया कराया जाएगा। बैठक में एएसपी बलिराम चौधरी, डीएसपी मुख्यालय बृजनंदन मेहता, एसडीपीओ संतोष कुमार, मृदुला कुमारी समेत सभी थानाध्यक्ष व इंस्पेक्टर मौजूद थे। इनपुट दैनिक जागरण।

चलते चलते ये भी पढ़ें : कंप्यूटर शिक्षा के क्षेत्र में क्रांति लाने वाले संदीप सांडिल्य की खुदकुशी से लोग स्तब्ध https://www.jagran.com/bihar/madhepura-crime-21258690.html?utm_source=referral&utm_medium=WA&utm_campaign=amp_social_share