कृष्णा ने कही एसपी से मिल ज्ञापन सौंप विभिन्न नौ बिन्दुओं पर जांच का करेंगे अनुरोध
  • 7 दिसंबर को अलौली में लिंकन नामक युवक की गोली मारकर हुई थी हत्या

खगड़िया : जिले के अलौली थाना अंतर्गत रामपुर अलौली में इसी माह के 7 दिसंबर को अलौली गांव निवासी लिंकन नामक युवक की हत्या मामले में रामपुर अलौली पंचायत के मुखिया पति व पुत्र का नाम सामने आने पर पूर्व जिला परिषद अध्यक्ष सह लोकसभा प्रत्याशी कृष्णा यादव ने इसे राजनीति से प्रेरित बताते हुए हत्याकांड की जांच एसआईटी टीम से करने की मांग की है।

कृष्णा यादव फाइल फोटो

कृष्णा यादव ने कहा कि वो खुद इस हत्या से हैरान थी चुंकि अलौली उसकी जन्म स्थली है। लेकिन घटना के बाद कुछ राजनीतिक दल के लोग इस कांड को राजनीतिक रंग देकर घटना के ग्यारह घंटे बाद उनके भाई व भतीजा सहित अन्य लोग का नाम इस हत्याकांड में शामिल कर देने पर घौर आश्चर्य हुआ।

ये भी पढ़ें : खगड़िया के बेलदौर में मार्निंग वॉक के दौरान पूर्व पंचायत समिति सदस्य की गोलीमार हत्या

इतना ही नहीं स्थानीय पुलिस भी संसय में है कि जिस मुखिया परिवार का नाम इस हत्या में दिया गया है उसका कोई अपराधिक नहीं है। श्रीमती यादव ने दावा करते हुए कहा कि मेरा भाई और भतीजा इस प्रकार का घिनौनी वारदात नहीं कर सकता है मेरा परिवार का सौ वर्षों का इतिहास रहा है कानून और न्याय प्रिय खानदानी परिवार हैं।

मृतक लिंकन के शव पर कुछ इस तरह रखा था देशी कट्टा

इतना ही नहीं मृतक के परिवार से हम लोगों का खून का रिश्ता है। भले पंचायत में विधि वयवस्था के सवाल पर मतभेद हो सकता है लेकिन इस प्रकार से निर्मम हत्या जैसी घिनौनी कार्य भाई और भतीजा नहीं कर सकता है इस हत्याकांड से संपूर्ण परिवार आहत और दुखी हैं। उन्होंने कहा कि आगामी पंचायत चुनाव को लेकर कुछ पंचायत के लोग गलत मंशा से ये षडयंत्र रचा है लेकिन वह कामयाब नही होगा।

ये भी पढ़ें : सहरसा का तीन युवक हथियार व गोली के साथ चढ़ा खगड़िया पुलिस के हत्थे

उन्होंने कहा कि हत्याकांड के बाद मुखिया परिवार ने अपने स्तर से हत्या के संदर्भ में जानकारी इकट्ठा किया है। वो स्वयं सभी जानकारी के साथ एसपी खगड़िया से मिलकर बातें कर ज्ञापन समर्पित करेंगे। उन्होंने कहा कि सुबे के नीतीश कुमार की सरकार में दोषी बचता नहीं है और निर्दोष फँसता नहीं है। हत्या का रहस्य समय रहते सुलझाया जाए ताकि दोषी गिरफ्तार हो निर्दोष को मुक्त किया जा सके। श्रीमती यादव ने कहा कि जरूरत होने पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मिलकर न्याय की गुहार लगाएंगे।