शराबबंदी कानून के बाद युवा नशीली दवा की ओर हो गए अग्रसर, बर्बाद हो रहा समाज का भविष्य

सहरसा : बिहार में जब से शराबबंदी कानून लागू हुआ है तब से नशीली दवाओं की बिक्री जोर पकड़ लिया है। पुलिस प्रशासन की सख्ती के बावजूद यह कारोबार धड़ल्ले से चल रहा है। पहले तो यह शहरों तक सीमित था पर अब यह गांव की गलियों में स्थित किराना दुकान तक पहुंच गया।

बुधवार को सहरसा जिले के बिहरा थाना क्षेत्र अंतर्गत नंदलाली गांव से 4 कार्टून नशीली दवा के साथ एक कारोबारी को बिहरा थानाध्यक्ष पुलिस ने गिरफ्तार किया। यह दर्शाता है कि अब गांव के छोरे भी नशा करने के लिए नशीली कोकिड युक्त सिरप की ओर अग्रसर हो रहें हैं।

ये भी पढ़ें : सहरसा : किराए के मकान में प्रोफेसर द्वारा संचालित नशा कारोबार का पुलिस ने किया भंडाफोड़

प्राप्त जानकारी अनुसार बिहरा थानाध्यक्ष ने गुप्त सूचना के आधार पर नंदलाली गांव स्थित एक किराना दुकान में छापेमारी कर 390 बोतल नशीली दवा के साथ एक दुकानदार विजय कुमार को गिरफ्तार किया गया। बिहरा थानाध्यक्ष प्रमोद झा ने बताया कि नंदलाली गांव के एक किराना दुकान में नशीली दवा का कारोबार किया जाता है।

ये भी पढ़ें : सहरसा : नशे के सौदागर दो भाईयों के यहां छापेमारी में भारी मात्रा में कोडिन युक्त कफ सिरप बरामद