सिमरी बख्तियारपुर प्रखंड के चकभारों पंचायत के अन्तर्गत लगमा टोला का मामला

सिमरी बख्तियारपुर (सहरसा) ब्रजेश भारती : प्रखंड क्षेत्र में सरकार द्वारा संचालित जनकल्याणकारी योजनाओं में लूट की छूट है, ना जेई ना कोई मानक जैसे मन वैसे निर्माण कार्य किया जाता है। जब ग्रामीण हो – हंगामा करते हैं तो पदाधिकारी पहुंच घटिया सामग्री को हटाने का आदेश देते हैं। हालांकि ग्रामीणों ने वरीय अधिकारियों को लिखित आवेदन देकर मामले से अवगत कराया है।

यह पुरा मामला प्रखंड क्षेत्र के चकभारो पंचायत के लगमा गांव में पंचायत समिति मद से पंचम वित्त द्वारा संचालित लगमा वार्ड संख्या 13 स्थित मेन रोड से लेकर महंथी साह के घर तक मिट्टी भराई, ईट सोलिंग एवं पीसीसी सड़क निर्माण कार्य कराया जा रहा है। ग्रामीण रमेश चन्द्र साह, वकील कुमार, दिनेश मेहता, अनिल राम् बबलू कुमार, अशोक साह, पिंटू साह, दिलखुश कुमार आदि ने बताया कि इतना घटिया निर्माण आज तक नहीं देखा गया है।

मिट्टी सना गिट्टी के अलावे बालू की क्वालिटी घटिया तो है ही उस पर से तीन नंबर ईट दिया जा रहा है वह भी सिर्फ आगे व पीछे सड़क में। बीच बीच में पुराने ईट व टुकड़े को उखाड़ बिना मिट्टी डाले निर्माण कार्य किया जा रहा है। वहीं निर्माण कार्य को लेकर ग्रामीणों ने जमकर रोषपूर्ण प्रदर्शन किया। ग्रामीणों का कहना था कि एक तरफ जिला पार्षद से तो दुसरी तरफ समिति योजना मद से कार्य किया गया लेकिन बीच में कार्य नहीं जिससे राहगीरों को बहुत परेशानी होती है।

हालांकि इस की जानकारी बीडीओ को होने पर कार्य स्थल पहुंच निर्माण कार्य को देखा। बीडीओं ने मिट्टी सने गिट्टी देख गिट्टी को अबिलंब बदलने का निर्देश दिया वहीं उन्होंने जहां जहां पुराने ईट का टुकड़ा लगा हुआ था उसे बदलने का निर्देश दिया गया। वहीं बीडीओ ने बीच में खाली सड़क में मिट्टी सोलिंग का भी आदेश दिया। अब देखने वाली बात होगी कि पीसीसी ढ़लाई कार्य की गुणवत्ता कैसे रहती है।

ये भी पढ़ें : जब मांगी आरटीआई से सूचना तो सड़क ढ़लाई कार्य किया शुरू, घटिया निर्माण की शिकायत