12 घंटे की ड्यूटी करने के उपरांत चार घंटे का अतिरिक्त भुगतान करने की मांग

सहरसा : सोमवार की देर रात 12 बजे से बिहार राज्य चिकित्सा कर्मचारी संघ (इंटक) के तत्वाधान में जिले में कार्यरत सभी 102 एम्बुलेंस कर्मी आठ सूत्री मांगों के समर्थन में अनिश्चित कालीन हड़ताल पर चले गए।

ये भी पढ़ें : हड़ताली शिक्षकों ने होलिका दहन की जगह जलाया सरकार का पुतला

जिला सचिव दिलीप कुमार ने बताया कि जब-तक आठ सुत्री मांगों पर विचार नहीं किया जायेगा तब-हड़ताल पर रहेंगे। सभी 102 एम्बुलेंस कर्मचारियों को कम से कम दो हजार रुपए का मासिक भुगतान व समय-समय पर वेतन वृद्धि दी जाए। उन्हें 12 घंटा ड्यूटी करने के उपरांत चार घंटा का अतिरिक्त भुगतान दी जाए।

ये भी पढ़ें : हड़ताली शिक्षकों ने फूंका मुख्यमंत्री, शिक्षा मंत्री व अपर सचिव का पुतला, की जमकर नारेबाजी

श्रम अधिनियम का क्रियान्वयन करना सुनिश्चित हो, कर्मियों से अवैध रूप से मासिक वेतन से काटी गई राशि का अविलंब भुगतान हो , तीन साल बीतने के बावजूद संस्था द्वारा अभी तक वेतन पर्ची, नहीं दिया गया है। जिसे देना सुनिश्चित किया जाए।

ये भी पढ़ें : सहरसा : बदहाल स्वास्थ्य व्यवस्था को लेकर एक दिवसीय भूख हड़ताल कर दिया धरना

कोविड-19 में काम करने के उपरांत अतिरिक्त भुगतान एवं पोषाहार की राशि से वंचित रखा गया है। जो अविलंब लागू हो, कर्मियों द्वारा साप्ताहिक छुट्टी में किए गए कार्य का अतिरिक्त भुगतान दी जाए। एम्बुलेंस कर्मियों को 60 वर्ष तक सेवा की गारंटी दी जाए। मौके पर नवीन कुमार, राजेश कुमार, जितेन्द्र ठाकुर, राजकिशोर राय, संतोष कुमार, जय कृष्ण राम आदि उपस्थित थे। इनपुट दैनिक भास्कर।

ये भी पढ़ें : सिमरी बख्तियारपुर : अनुमंडल के तीनों प्रखंडों में राष्ट्रव्यापी हड़ताल असरदार