बनमा-ईटहरी ओपी क्षेत्र के मुंदीचक में सुप्तावस्था में पहले मारी गोली फिर गला भी रेता

सिमरी बख्तियारपुर (सहरसा) ब्रजेश भारती : सहरसा जिले के बनमा-ईटहरी ओपी क्षेत्र के मुंदीचक गांव में रविवार देर रात सुप्तावस्था में कुख्यात बदमाश गफ्फार मियां की गोलियों से छलनी कर गला रेत हत्या कर दी गई। मृतक सलखुआ थाना क्षेत्र के माठा गांव का रहने वाला है। मृतक का लंबा अपराधीक इतिहास है मृतक बदमाश पुलिस से बचने के लिए छुप-छुप कर रह रहा था।

घटना की सूचना पर ओपी पुलिस घटनास्थल पहुंच शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज मामले की छानबीन शुरू कर दिया है वहीं मृतक के पुत्र तीरो मियां के लिखित आवेदन पर माठा गांव निवासी बदमाश रणवीर यादव एवं कुख्यात संतोष यादव सहित 11 लोगों को हत्या का नामजद आरोपी बनाया है।

ये भी पढ़ें : रामानंद पहलवान हत्याकांड का नामजद आरोपी पैक्स अध्यक्ष चढ़ा एसटीएफ के हत्थे

जिन लोगों को नामजद आरोपी बनाया गया है उनमें रणवीर यादव एवं कुख्यात संतोष यादव के अलावे तेजो यादव, लभलेश यादव, दुलार यादव, छत्तीस यादव, ब्रजेश यादव, दिलीप यादव, नरेश यादव, मनोज यादव, विजय शर्मा शामिल हैं।

Logo.

मृतक के पुत्र तीरो मिंया ने बताया कि मैं एवं मेरे पिता व चचेरे भाई मुंदीचक गांव स्थित भजन शर्मा के घर के पीछे बनें मचान पर सोया हुआ था रात करीब दो बजे के करीब एक दर्जन हथियार बदमाश आया हम दोनों को हथियार के बल पर उठा लिया वहीं मेरे सामने मेरे पिता गफ्फार मिंया को गोलियों से छलनी कर चाकू से गला रेत हत्या कर दिया।

ये भी पढ़ें : शादी की तैयारी कर रहा था युवक, दो बच्चों के साथ पहुंची प्रेमिका; फ‍िर…https://www.jagran.com/bihar/muzaffarpur-mother-of-two-children-stopped-her-lover-marriage-20449435.html?utm_source=referral&utm_medium=WA&utm_campaign=amp_soci

वहीं इस संबंध में सिमरी बख्तियारपुर डीएसपी मृदुला कुमारी ने बताया कि देर रात गैंगवॉर में अपराधी गफ्फार मिंया की हत्या आपसी वर्चस्व में रणवीर यादव गैंग के द्वारा किया गया है। घटनास्थल से पुलिस ने तीन खाली खोखा बरामद किया गया है। गफ्फार मिंया एवं रणवीर यादव के बीच पुरानी अदावत चल रही थी। हाल के दिनों में माठा गांव में दोनों गैंग में गोली बारी हुई थी जिसमें एक बच्ची जख्मी हो गई थी।

वहीं इस मामले में पुलिस बदमाशों की धरपकड़ के लिए चलाए जा रहे छापेमारी अभियान दौरान गफ्फार मियां गुट का एक राईफल पकड़ा था। गफ्फार मियां पर कई अपराधीक मामले दर्ज हैं। अभी वह हाल के दिनों में दर्ज दो मामले में फरार चल रहा था। जिसकी वजह से वह छुप छुप रहता था। फिलहाल पुलिस कांड दर्ज मामले की छानबीन शुरू कर दिया।

चलते-चलते ये भी देखें : तेरी गली….!