पाकिस्तान से आए टिड्डी दल पहुंच चुका है बिहार के गोपालगंज

सहरसा : पाकिस्तान से आए टिड्डी दल के सुबे के गोपालगंज जिले में पहुंचने को ले सहरसा में कृषि विभाग प्रशासन अलर्ट हो गया है। जिला कृषि पदाधिकारी ने टिड्डी दल के संभावित प्रवेश की संभावना को लेकर अलर्ट जारी किया है। साथ ही जिले के हर गांवों में युवाओं की टीम बनाई है। वहीं आमजनों से लेकर किसान इसको लेकर आशंकित नजर आ रहे हैं।

सांकेतिक चित्र

जिला कृषि पदाधिकारी दिनेश प्रसाद सिंह ने बताया कि टीम में हर गांव के 10 युवाओं की टीम बनाई गई है। टीम में शामिल युवाओं को उनके गांव में टिड्डी दल के प्रवेश की सूचना तुरंत देने के लिए कहा गया है। साथ ही ढोल, थाली, टिन पीटकर टिड्डी दल को भगाने के लिए प्रशिक्षित किया गया है। उन्होंने कहा कि देखा जा रहा टिड्डी दल ढोल, थाली, टिन पीटने जैसे आवाज को सुनकर भाग जाते हैं। इससे फसलों और पेड़-पौधे को नुकसान होने से बचाया जा सकता है।

ये भी पढ़ें : कृषि कार्य के लिए निशुल्क विद्यृत कनेक्शन हेतू कल लगेगा चार प्रखंडों में कैंप

जिला कृषि पदाधिकारी के मुताबिक टिड्डी दल अगर कहीं बैठेगा तो वहां स्प्रे करते हुए उसे मारा जाएगा। स्प्रे करने के लिए जरूरी इंतजाम कर रखे गए हैं। स्प्रे करने के काम में जरूरत पड़ने पर अग्निशमन विभाग के दमकल गाड़ी को भी उपयोग में लाया जाएगा। उल्लेखनीय है कि टिड्डी पेड़, पौधे, मक्का, सब्जी व अन्य किसी भी फसल पर बैठती है तो उसे खा जाती है।

उसके हटते ही फसल सूखने लगती है। टिड्डी की विश्व में 10 हजार प्रजातियां हैं। अभी जो दल देश में आया है वह सबसे खतरनाक है। इसे रेगिस्तानी प्रजाति कहा जाता है जो अफ्रीका में पाया जाता है। अभी यह भारत के विभिन्न हिस्सों में आतंक मचा रहा है।

ये भी पढ़ें : Bihar Assembly Election: अब पॉलिटिकल मास्क से चुनाव प्रचार करेंगी पार्टियां, BJP ने कर दी शुरुआत https://www.jagran.com/bihar/muzaffarpur-bihar-assembly-election-political-parties-all-set-to-start-campaign-with-political-masks-bjp-initiates-the-process-jagr

कृषि वैज्ञानिकों के अनुसार मौसम के बदले मिजाज से भारत में टिड्डी का आक्रमण हुआ है। देश में इस साल अब तक बारिश अच्छी हुई है। इससे नमी बनी हुई है। टिड्डी नमी वाले इलाके में तेजी से प्रवेश करता है। टिड्डी दलों की रफ्तार 150 से 200 किमी 12 घंटे में है। ये रात में आगे नहीं बढ़ते। शाम में सभी पेड़, पौधे व फसलों पर एकत्र होकर आराम करते हैं। ऐसे में रात में जब टिड्डी आराम फरमाएगा उस समय क्लोरोपायरीफॉस कीटनाशक का छिड़काव कर इसको रोकने की विभाग की शायद योजना होगी। इनपुट हिंदुस्तान।

YOU MAY ALSO LIKE : Coronavirus: UAE reports 449 new Covid-19 cases, 665 recoveries – https://www.khaleejtimes.com/coronavirus-pandemic/20200629/coronavirus-uae-reports-new-covid-19-cases-recoveries-1