बहन ने कि पहचान, अज्ञात द्वारा हत्या को अंजाम देने का मामला दर्ज

सिमरी बख्तियारपुर (सहरसा) ब्रजेश भारती : सहरसा जिले के सलखुआ थाना क्षेत्र अन्तर्गत सितुआहा-उटेशरा ड्रेनेज के समीप पानी से बरामद शव की पहचान हो गई है। मृतक शख्स सौरबाजार थाना क्षेत्र के कबेला गांव निवासी स्व. उपेन्द्र यादव उर्फ ओपी यादव का पुत्र 38 वर्षीय संजीत यादव उर्फ लेबरा है।

बुधवार को मीडिया में आई खबर के बाद मृतक की बहन बनमा ईटहरी ओपी क्षेत्र के हथमंडल निवासी उषा देवी अपने परिजनों के साथ सलखुआ थाना पहुंच शव की पहचान अपने भाई के रूप में किया। मृतक तीन चार दिन पूर्व घर से निकला था। मृतक की लिखित आवेदन पर अज्ञात के द्वारा हत्या कर शव को ड्रेनेज के किनारे फेंक दिए जाने की प्राथमिकी दर्ज कराई गई है।

ये भी पढ़ें : ड्रेनेज किनारे से अज्ञात युवक का शव बरामद, हत्या की आशंका, सनसनी

परिजनों ने बताया कि मृतक की शादी दस वर्ष पूर्व महिषी थाना क्षेत्र के लखमिनियां गांव निवासी विद्यानंद यादव की पुत्री पुनम देवी से हुई थी। दम्पत्ति को एक पुत्र एवं दो पुत्री है। कुछ वर्ष पूर्व एक मामले में जेल भी जा चुका है। हालांकि कुछ वर्षों से बेरोजगार के रूप में ही रहता था।

सलखुआ थाना

परिजनों ने बताया कि 25 अप्रैल को कबेला में पति-पत्नी के बीच झगड़ा हुआ था पत्नी बच्चों को लेकर वही पति अकेले घर से निकल गया। पत्नी बच्चों को लेकर मायके चली जाने की बात कही जा रही है वहीं संजीत का शव सलखुआ थाना क्षेत्र से बरामद हुआ है।

ये भी पढ़ें : अज्ञात शव की हुई पहचान, पति व शौतन ने मिलकर पहली पत्नी की हत्या

थानाध्यक्ष एम रहमान ने बताया कि बहन के लिखित आवेदन पर मामला दर्ज कर पुलिस अग्रतर कार्रवाई में जुट गई है वहीं परिजनों एवं ग्रामीणों के समक्ष शव को बहन के सुपुर्द कर दिया गया है। जल्द पुलिस इस हत्या की गुत्थी सुलझा हत्यारे को सलाखों के पीछे भेज देगी।