आए दिन लूट का शिकार हो रहा निजी फाईनेंशियल एजेंट पर नहीं करता सुरक्षा का इंतजाम

सिमरी बख्तियारपुर (सहरसा) ब्रजेश भारती की रिपोर्ट : सहरसा जिले सहित विभिन्न स्थानों पर आए दिन निजी फाईनेंशियल कम्पनी के एजेंट लूट का शिकार हो रहे हैं लेकिन वे सुरक्षा का पुख्ता किए बिना धड़क्कले से कलेक्शन का काम जारी रखें हुआ है मानों एक लूट के बाद दुसरे लूट का आस लगाए हैं।

पीड़ित एजेंट

ताज़ा लूट का शिकार फिर सोमवार को एक एजेंट हुआ लेकिन क्या इस लूट के बाद एजेंसी सतर्कता अपनाएगी यह बहुत बड़ा प्रश्न है। चुंकि एक सप्ताह पहले भी एक एजेंट लूट का शिकार हुआ लेकिन उसके बाद कोई सुरक्षा व्यवस्था नहीं करने की वजह से दुबारा लूट की घटना हुई।

ये भी पढ़ें : बाइक सवार बदमाशों ने कलेक्शन एजेंट से हथियार के बल पर लूटा नगदी

ताजा मामला जिले के बलवाहाट ओपी क्षेत्र के खोजूचक के समीप मोलापुर तकिया पुल के पास सोमवार दोपहर कलेक्शन कर आ रहे एक एल एण्ड टी फाइनांस कंपनी के कर्मी से बाइक सवार दो बदमाशों ने हथियार का भय दिखाकर एक लाख से भी ज्यादा रूपया से भरा बैग छीनकर भाग गया। घटना को लेकर पीड़ित कर्मी ने बलवाहाट ओपी पुलिस को आवेदन देकर न्याय की गुहार लगाया है।

इसी बाइक से जा रहा था पीड़िता

पीड़ित कर्मी सुपौल जिला के किसनपुर थाना के श्रीपुर सुखासन निवासी रामअवतार मंडल के पुत्र अरविन्द कुमार भारती ने पुलिस को बताया कि वर्तमान में सिमरी बख्तियारपुर के मालगोदाम रोड स्थित एल एण्ड टी फाइनांस कंपनी के फील्ड स्टॉफ के पद पर कार्यरत हूं।

ये भी पढ़ें : कन्हैया कुमार पर हमला: बिहार: कन्हैया कुमार के काफिले पर फिर हमला, फेंके गए अंडे और मोबिल – https://navbharattimes.indiatimes.com/state/bihar/other-cities/kanhaiya-kumar-convoy-attacked-by-angry-mob-in-jamui-bihar/articleshow/74058731.cms?utm_source

सोमवार को सिमरी बख्तियारपुर कार्यालय से निकलने के बाद बलवाहाट ओपी क्षेत्र के कांठो तथा भौरा में कुल 1 लाख 18 हजार 827 रूपया कलेक्शन कर खोजूचक-बलहमपुर सड़क मार्ग के रास्ते रामहरपार के लिए निकले थे। इसी बीच मोला तकिया पुल के समीप पहुंचा तो अपनी बाइक लगा पैसाब करने लगा। जब पैसाब कर बाइक के पास आया तो उतने में एक पीला रंग का हीरो सीबीजेड बाइक से दो युवक अपनी गाड़ी खड़ा कर मेरे पास से बैग हथियार का भय दिखाकर छीन लिया।

जिस बैग में सभी कलेक्शन का रूपया रखा हुआ था। वहीं बैग छीनने के बाद वे लोग बाइक से चलता बना। इस बावत बलवाहाट ओपीध्यक्ष हरेश्वर प्रसाद सिंह ने बताया कि प्राप्त आवेदन पर मामले की जांच पड़ताल पुलिस के द्वारा की जा रही है। उन्होंने कहा कि इस कम्पनी के वरीय अधिकारी को पहले भी बताया गया कि जब भी बड़ी रकम लेकर कोई एजेंट आए या जाए जानकारी पुलिस को दी जाए लेकिन ऐसा नहीं किया गया।

YOU MAY ALSO LIKE : New banking rules in UAE to protect customers – https://m.khaleejtimes.com/photos/nation/new-banking-rules-in-uae-to-protect-customers

अब सबसे बड़ा सवाल उठता है जब ये कम्पनी लाखों करोड़ों का कारोबार करती है तो फिर क्यों नहीं ये सुरक्षा के लिए गार्ड का इंतजाम करती है क्यों नहीं इसके एजेंट सुरक्षा के साथ रूपए कलेक्शन करती है क्या ये एक के बाद एक लूट की वारदात होने के बावजूद अगले घटना का इंतजार करती है ? क्या लूट बाद एफआईआर दर्ज कर अपनी खानापूर्ति कर बैठ जाती है। कहीं ना कहीं यह बहुत बड़ा जांच का विषय है…!

चलते चलते ये भी देखें : एनआरसी क्या है ?