विभिन्न ट्रेड यूनियनों ने प्रखंड मुख्यालय पर दिया धरना प्रदर्शन

सिमरी बख्तियारपुर (सहरसा) ब्रजेश भारती : सहरसा जिले के सिमरी बख्तियारपुर अनुमंडल क्षेत्र के तीनों प्रखंड सिमरी, सलखुआ एवं बनमा- ईटहरी में बुधवार को अखिल भारतीय मध्याह्न भोजन रसोईया फेडरेशन एवं ट्रेड यूनियनों के संयुक्त अह्वान पर राष्ट्रव्यापी भारत बंद असरदार रहा।

सिमरी बख्तियारपुर : बामपंथी दल, ट्रेड यूनियन एवं मिड-डे-मील रसोइया के आह्वान पर भारत बंद को लेकर सिमरी बख्तियारपुर में जुलूस निकाल प्रखंड मुख्यालय में धरना दिया गया। मिड-डे-मिल के रसोइया एवं ट्रेड यूनियन के कार्यकर्ता के द्वारा स्टेशन चौक से जुलूस निकालकर सरकार के खिलाफ नारेबाजी किया। जुलूस में शामिल लोगों ने 8 सूत्री मांगों का आवाज बुलंद किया।

ये भी पढ़ें : सहरसा : इंजीनियरिंग के छात्रों ने विभिन्न मांगों को लेकर शुरू की भूख हड़ताल

रसोइया को 18 हजार न्यूनतम वेतन, 3 हजार मासिक पेंशन सहित कई मांगे शामिल था। जुलूस सिमरी बख्तियारपुर प्रखंड मुख्यालय पहुच धरना में बदल गया। धरना को संबोधित करते हुए कम्युनिस्ट पार्टी नेता सह मुखिया राजकुमार चौधरी ने कहा कि वर्तमान सरकार श्रमिको के साथ भेदभाव कर रही है। ये पूंजीपतियों की सरकार गरीबो के साथ अन्याय कर रहा है। जुलूस में शामिल डोमी पासवान, सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

सलखुआ : राज्य व्यापी हड़ताल के समर्थन में भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के कार्यकर्ताओं ने बुधवार को सलखुआ बाजार बंद कराकर किया प्रदर्शन। धरना प्रदर्शन में आशा, रसोईया ने हिस्सा लिया।बंद समर्थकों ने सुबह से ही सलखुआ बाजार भ्रमण कर दोपहर 12 बजे तक बाजार बंद कराकर प्रर्दशन किया।

YOU MAY ALSO LIKE : Step by step: How Nirbhaya convicts will be hanged in Delhi’s Tihar – https://m.khaleejtimes.com/international/india/step-by-step-how-nirbhaya-convicts-will-be-hanged-in-delhis-tihar

वहींसीपीआई नेता शंकर कुमार, अमर कुमार पप्पू धरना-प्रदर्शन को संबोधित कर कहा कि केंद्र सरकार संविधान के खिलाफ काम कर रही है। देश में महंगाई और बेरोजगारी बढ़ रही है। देश की अर्थव्यवस्था संभालने में सरकार पूरी तरह विफल है। महंगाई, बेरोजगारी चरम पर है।मोदी सरकार लगातार सार्वजनिक क्षेत्रों को निजी हाथों में सौंप रही है।

कर्मचारी संगठन इसका विरोध कर रहे है। आज किसान, मजदूर, युवा, छात्र सभी वर्ग परेशान है। महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं। मौके पर विपिन कुमार, राजेश कुमार, महेन्द्र नारायण सिंह, बिहार राज्य आशा संघ के सुधा देवी,रंभा देवी, सरिता देवी, सुनीता कुमारी, सुदामा देवी, गायत्री देवी, वी वी कोकब आरा, रसोइया रंजीता देवी, बिनोद सादा, सुनीता देवी, सविता देवी आदि शामिल थे।

ये भी पढ़ें : रिलायंस जियो की नई सर्विस, फ्री में करें वॉइस-विडियो कॉल – https://navbharattimes.indiatimes.com/tech/gadgets-news/jio-announced-launch-of-voice-and-video-calls-over-wi-fi-service/articleshow/73156917.cms?utm_source=

बनमा -ईटहरी : अखिल भारतीय मध्याहन भोजन रसोइया फेडरेशन एवं ट्रेड यूनियन के संयुक्त आह्वान पर बनमा -ईटहरी प्रखंड के महिला-पुरुष मध्याह्न भोजन रसोईया संघ अपनी चौदह सूत्री मांगों को लेकर प्रखंड एवं अंचल कार्यालय के समक्ष बुधवार को सरकार के विरुद्ध जोरदार प्रदर्शन किया।

प्रदर्शन कर रहे रसोइया के प्रखंड अध्यक्ष बिनोद यादव ने बताया कि एमडीएम रसोइया का न्यूनतम वेतन 18 हजार रुपया प्रतिमाह किया जाय, 10 महीना के बजाय 12 महीना के पारिश्रमिक किया जाय। रसोइया को दो वर्षों में दो सेट वर्दी पोशाक एवं सफाई भत्ता दिया जाय। रसोइया के मुद्दे पर विचार एवं समाधान समिति का गठन किया जाय।

ये भी पढ़ें : बिजली विभाग के मानव बलों की हड़ताल से विद्युत आपूर्ति व्यवस्था चरमराई

कुल मिलाकर 14 सूत्री मांगों को लेकर प्रदर्शन किया। इस दौरान प्रखंड के अधिकांश विद्यालय में एमडीएम बाधित रहा। प्रदर्शनकारियों ने अंचल एवं प्रखंड कार्यालय को पूर्णतः बंद करवाया। बंद के दौरान कोई स्कूल में खाना बनाते हुए पाए जाने पर दो हजार रुपए के जुर्माने की व्यवस्था अध्यक्ष के द्वार की गई थी।

Adv.

वही मौके पर उपस्थित सीपीआई नेता विजय सिंह ने कहा कि विगत 20 वर्ष से अधिक समय से शासन द्वारा रसोइयों का शोषण किया जा रहा है। वर्तमान में प्रत्येक शालाओं में सफाई कर्मी नियुक्त किया गया है, जो महज दो घंटे भी काम नहीं करते उन्हें रसोइयों से कही अधिक वेतन दिया जा रहा है। रोजाना खाना बनाने में अधिकांश रसोइयों का पूरा दिन बीत जाता है।

ये भी पढ़ें : JNU हिंसा: दीपिका पादुकोण के जेएनयू जाने पर मुख्तार अब्बास नकवी बोले, फिल्म प्रमोशन को कौन रोक सकता है – https://m.livehindustan.com/national/story-jnu-violence-central-leader-mukhtar-abbas-naqvi-said-on-deepika-padukone-visit-to-jnu-who-can-stop-the-film-promotion-2

प्रदर्शनकारियों में बीबी हेंना खातून, शाकुन्तल देवी, विभा देवी, सिरोमनि देवी, फुलदाय देवी, रीना देवी, बिलाश महतो, विद्यासागर मोदी, रूदल यादव, चुन्नी देवी, कौशल्या देवी, डोमनी देवी, कंचन देवी, माला देवी समेत सेकड़ो रसोइया मौजूद रहे।