मधेपुरा जिले के उदाकिशुनगंज प्रखंड के आनंदपुर गाँव के रहने वाले हैं विनीत उत्पल

सहरसा : वरिष्ठ पत्रकार विनीत उत्पल को काका कालेलकर पत्रकारिता सम्मान-2019 से नई दिल्ली में सम्मानित किया गया. इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र के सदस्य सचिव और वरिष्ठ साहित्यकार सच्चिदानंद जोशी ने उन्हें यह सम्मान दिया।

इस मौके पर काका कालेलकर से जुड़ी रहीं वरिष्ठ समाजसेवी निरंजना कलार्थी, गांधी स्मृति एवं दर्शन समिति के निदेशक दीपांकरश्रीज्ञान, ज्योतिष जोशी, अतुल प्रभाकर, कुसुम शाह, प्रसून लतांत, विद्यानंद ठाकुर मौजूद थे. विनीत उत्पल को यह सम्मान गांधी हिंदुस्थानी साहित्य सभा, दिल्ली और विष्णु प्रभाकर प्रतिष्ठान, नोएडा द्वारा संचालित सन्निधि संगोष्ठी की ओर से दिया गया. उन्हें यह सम्मान पत्रकारिता में किए गए कार्यों के लिए दिया गया।

ये भी पढ़ें : सहरसा के लाल ने किया कमाल,कत्थक नृत्य में सौरभ सम्मान से सम्मानित

विनीत उत्पल को मिले इस सम्मान के लिए जिले के साहित्यकारों डॉ. ललितेश मिश्र, डॉ. महेंद्र झा, केदार कानन, प्रो विपिन कुमार सिंह, डॉ. राजा राम प्रसाद, डॉ. अमोल झा, डॉ. कुलानंद झा, डॉ. ज्योति वर्धन, डॉ. सुभाष चन्द्र यादव,अरविन्द मिश्र नीरज, डॉ. राम चैतन्य धीरज, ‘मैथिली शब्द लोक’ के संयोजक मुख्तारआलम आदि ने बधाई दी।

ये भी पढ़ें : 365 दिन का प्रीपेड प्लान: जियो, एयरटेल और वोडाफोन में से किसका बेहतर – https://navbharattimes.indiatimes.com/tech/gadgets-news/reliance-jio-vs-airtel-vs-vodafone-best-prepaid-plan-with-365-days-validity/articleshow/72932187.cms

मूल रूप से बिहार के मधेपुरा जिले के उदाकिशुनगंज प्रखंड के आनंदपुर गाँव के विनीत उत्पल की पढाई मुंगेर जिले के तारापुर, भागलपुर और नई दिल्ली में हुई है. सम्प्रति वे ग्रेटर नोएडा स्थित आईआईएमटी कॉलेज ऑफ़ मैनेजमेंट में पत्रकारिता और जनसंचार विभाग में असिस्टेंट प्रोफ़ेसर हैं।

YOU MAY ALSO LIKE : UAE cars to automatically alert cops after crash – https://m.khaleejtimes.com/news/transport/uae-cars-to-automatically-alert-cops-after-crash

करीब डेढ़ दशक से अधिक समय तक उन्होंने पत्रकारिता भी की है. विनीत उत्पल के पिता डॉ. वेदानन्द झा भागलपुर स्थित मारवाड़ी कॉलेज में गणित विषय में विभागाध्यक्ष रहे हैं. भागलपुर के मारवाड़ी कॉलेज से गणित में स्नातक करने वाले विनीत उत्पल मैथिली भाषा की शोध पत्रिका ‘तीरभुक्ति’ के संपादक भी हैं।इससे पहले भी उन्हें प्रथम स्वस्थ भारत मीडिया सम्मान, प्रथम कार्यकर्त्ता (पत्रकारिता और संपादन) सम्मान से नवाजा जा चुका है।

चलते-चलते ये भी देखें : मुकाबला…..!