चौथे दिन पुलिस को गिरफ्तार करने में मिली सफलता, अभी भी मुख्य आरोपी सहित 19 बाकी

सिमरी बख्तियारपुर (सहरसा) ब्रजेश भारती : सहरसा जिले के बनमा-ईटहरी प्रखंड के मुंदीचक गांव में रविवार की शाम आपसी वर्चस्व को लेकर हुए डबल मर्डर मामले में पुलिस को सफलता मिली है। इस हत्याकांड के तीन नामजद आरोपी को पुलिस ने विभिन्न स्थानों से गिरफ्तार कर न्यायायिक हिरासत में जेल भेज दिया है।

जिन लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है उनमें भगवान यादव, विपीन यादव तथा श्रवण यादव कुमार शामिल हैं। गिरफ्तार आरोपियों से आवश्यक पूछताछ उपरांत न्यायायिक गिरफ्तार सहरसा भेजा गया है।

ये भी पढ़ें : सहरसा : बिहरा सेल्समैन हत्याकांड का हुआ खुलासा, दो बदमाश गिरफ्तार

प्राप्त जानकारी के अनुसार पुलिस पर आरोपी की गिरफ्तारी के लिए जबरदस्त दबाव बन गया था चुंकि एक साथ दो लोगों की हत्या हुई जिसमें 22 लोग नामजद बनें लेकिन पुलिस तीन दिनों बाद भी एक भी आरोपी की गिरफ्तार नहीं कर पाई थी।

हालांकि बनमा ईटहरी ओपीध्यक्ष रूदल कुमार आरोपी की गिरफ्तारी के लिए लगातार सघन छापेमारी अभियान चला रही थी लेकिन सफलता नहीं मिल पा रही थी तीन लोगों की गिरफ्तारी से पुलिस को थोड़ी राहत की सांस लेने का मौका लगा है।

ये भी पढ़ें : खगड़िया : अलौली में बेखौफ बदमाशों ने शिक्षक को गोली मार कर दी हत्या

लेकिन अभी भी पुलिस के लिए पनघट की डगर कठिन नजर आ रही है चुंकि मुख्य आरोपी सहित 19 आरोपी अभी भी पुलिस पहुंच से कोसों दूर नजर आ रहा है। ऐसे में अगर जल्द अन्य आरोपी गिरफ्तार नहीं होता है तो पुलिस पर सवालिया निशान खड़ा होगा।

यहां बताते चलें कि सलखुआ थाना कांड संख्या 203/19 दिनांक 1 सितम्बर रविवार की शाम परसाहा-मुंदीचक सड़क मार्ग के बीच स्थित पुलिया के समीप पांडव यादव के बासा पर दो गुटों के बीच वर्चस्व को लेकर दो लोगों को गोली मार मौत के घाट उतार दिया था।

ये भी पढ़ें : सहरसा के संबंध में वीकिपीडिया..…! https://hi.wikipedia.org/wiki/%E0%A4%B8%E0%A4%B9%E0%A4%B0%E0%A4%B8%E0%A4%BE

पुलिस के अनुसार दोनों मृतक कमलेश यादव व ललन यादव अपराधी प्रवृत्ति का था जिसके पास से भी जिंदा गोली बरामद की गई थी वहीं कई अपराधिक मामले में पुलिस को इन दोनों की तलाश थी।