बख्तियारपुर थाना क्षेत्र के तरियामा का मामला, एक बच्चे की मां है पत्नी

सिमरी बख्तियारपुर (सहरसा) ब्रजेश भारती : सहरसा जिले के सिमरी बख्तियारपुर प्रखंड के तरियामा गांव निवासी एक युवक को अपनी पत्नी को दिल्ली घुमाना महंगा पड़ गया। पति के संग दिल्ली घुमने गई पत्नी ने प्रदेश में पति को छोड़ दूसरे युवक के संग जिंदगी की रेलगाड़ी आगे बढ़ा दी। इधर पति अब थाने में इंसाफ की आस लगाए बैठा दर दर की ठोकरें खाने को विवश नजर आ रहा है।

पीड़ित पति

पीड़ित पति ने मो. शकील के पुत्र मो. मुख्तार ने कहा है कि वर्ष 2013 में मेरी शादी निखत परवीन से मुस्लिम रीति-रिवाज से हुई थी। शादी के उपरांत मुझे एक बेटी भी हुई जिसका नाम आफिया प्रवीण है। मैं वर्ष 2019 के मई महीने में अपनी पत्नी को उसके इच्छा अनुसार अपने साथ नई दिल्ली लेकर चले गया।

ये भी पढ़ें : बीए का फार्म भरने निकली एक बच्चे की मां फरार, पति ने लगाई पुलिस से गुहार

वहां जब मैं काम पर चला जाता तो मेरे पीछे मेरी पत्नी वही के निवासी मो शाहरुख के संग अपना शारीरिक संबंध बना ली। इस बात की सूचना लड़की के माता – पिता को दी। पहले तो उन्होंने इस बात से इनकार किया परंतु बाद में मान लिया। बाद मे जब मै उसे (पत्नी) को अपने घर लाने का प्रयास किया तो उसने कश्मीरी गेट थाने को आवेदन दे दिया कि वह अपने चहेते शाहरुख के साथ ही अपनी पुत्री को ले कर रहेगी।

वह ना तो माता – पिता और ना मेरे साथ आने को तैयार है। मै अभी भी अपनी पत्नी और पुत्री को रखने के लिए तैयार हूं। इस संबंध में बख्तियारपुर थानाध्यक्ष अनिल कुमार सिंह ने बताया कि आवेदन प्राप्त हुआ है, जांच – पड़ताल की जाएगी। परिवारिक विवाद हैं। चुंकि पुरी घटना दिल्ली में हुई है इसलिए पुरे मामले की गहराई से जांच की जा रही है।