जल्द सरेंडर नहीं होने की जाएगी कुर्की जप्ती की कार्रवाई : थानाध्यक्ष

प्रेम प्रसंग में युवती ने जहर खा जीवन लीला कर ली थी समाप्त, प्रेमी व पिता पर दर्ज हुआ था केस

सिमरी बख्तियारपुर (सहरसा) ब्रजेश भारती : सहरसा जिले के सिमरी बख्तियारपुर नगर पंचायत क्षेत्र के बहुचर्चित नेहा खुदकुशी कांड के हत्यारोपी पति पुत्र की गिरफ्तारी के लिए बख्तियारपुर सजग नजर आ रही है।

गिरफ्तारी के डर से राज्य छोड़ चुके पिता पुत्र की गिरफ्तारी के लिए बख्तियारपुर पुलिस ने शुक्रवार को हत्यारोपी के घर गिरफ्तारी वारंट का इस्तेहार चिपका दिया है वो भी डुगडुगी बजा कर।

ये भी पढ़ें : जहर खाई युवती की मौत, प्रेमी व उसके पिता पर केश दर्ज, गिरफ्तारी के लिए सड़क जाम

शुक्रवार को बख्तियारपुर थानाध्यक्ष अनिल कुमार सिंह के नेतृत्व में उपरोक्त कांड के फरार चल रहे आरोपी संजय भगत और प्रिंस भगत के घर पुलिस ने इस्तेहार चस्पाया। इस दौरान डुगडुगी भी बजाई गयी। डुगडुगी बजते ही भीड़ लग गई। इस्तेहार चस्पाते समय थानाध्यक्ष अनिल कुमार सिंह ने उसके पड़ोसियों से कहा कि यदि वह तत्काल हाजिर नहीं होते है तो कुर्की की कार्रवाई की जाएगी।

बख्तियारपुर थाना पुलिस के कड़े रुख को देखकर एवं पुलिसिया कार्रवाई को लेकर अब आम लोगो में यह उम्मीद जगी है कि जल्द ही बाप – बेटे सलाखों के पीछे होंगे एवं नेहा को उचित न्याय मिल पाएगा। वहीं वारंट चिपकाए जाने के बाद यह मामला चर्चा का विषय बन गया।

ये भी पढ़ें : भाभी ने ननद को खाने में दिया जहर,अस्पताल में भर्ती

● क्या था मामला : बीते महीने जुलाई में सिमरी बख्तियारपुर नगर पंचायत क्षेत्र के पुरानी बाजार में एक युवती ने जहर खा लिया.जिसके बाद पीड़ित युवती को परिजनों ने गंभीर स्थिति में अनुमंडलीय अस्पताल सिमरी बख्तियारपुर में भर्ती कराया.जहां से डाक्टरों ने बेहतर इलाज के लिए सहरसा रेफर कर दिया है। जहां युवती की मौत इलाज के दौरान हो गई।

पीड़ित युवती ने मौत से पूर्व दिए बयान में बताया था कि करीब एक वर्ष से प्रेम प्रसंग सिमरी बख्तियारपुर निवासी संजय भगत के पुत्र प्रिंस भगत से चल रहा था। इस बीच दोनों के बीच यौन संबंध बन गया। युवक ने कहा जल्द वे शादी कर लेंगे। लेकिन बाद में शादी से इंकार कर दिया।

ये भी पढ़ें : इन्टर की छात्रा ने जहर खा जीवन लीला समाप्त करने का किया असफल प्रयास

इस बीच पीड़ित युवती ने युवक के घर जा गुहार लगाई तो युवक के माता – पिता ने भी उसे अपनाने से इंकार कर दिया। तब युवती को कोई रास्ता नहीं मिलने पर वह जहर खा आत्महत्या कर ली। युवती की इलाज के दौरान मौत के बाद शव जब सिमरी बख्तियारपुर पहुंचा तो आक्रोशित ग्रामीणों ने पुरानी बाजार के निकट सिमरी बख्तियारपुर – सहरसा मुख्य मार्ग, सिमरी बख्तियारपुर – सरडीहा मार्ग, सिमरी बख्तियारपुर – सोनवर्षा मार्ग को जाम कर प्रदर्शन किया।

इस दौरान आक्रोशित ग्रामीणों ने टायर जला आरोपियों के गिरफ्तारी की मांग की। वही जाम की सूचना पर बख्तियारपुर थानाध्यक्ष अनिल कुमार सिंह ने दल – बल के साथ पहुंच कर आक्रोशित ग्रामीणों से बात की और जल्द – से – जल्द आरोपियों की गिरफ्तारी का आश्वासन देने के उपरांत लगभग एक घंटे बाद जाम समाप्त हुआ था।

ये भी पढ़ें : प्रेम-प्रसंग में युवती ने खाई जहर, गंभीर स्थिति में अस्पताल में भर्ती

लेकिन घटना के एक माह से अधिक होने वाला है।परंतु युवती के गुनाहगार अभी भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। उम्मीद है इश्तेहार चिपकने के बाद बाप और बेटे पुलिस या कोर्ट के समक्ष सरेंडर हो।