मंगलवार की अहले सुबह आंगन में घुसकर सोये अवस्था में घटना को दिया अंजाम

खगड़िया : जिले के मोरकाही थाना क्षेत्र के माड़र गांव में मंगलवार की अहले सुबह करीब तीन बजे सशस्त्र बदमाशों आंगन घुसकर उत्तर माड़र पंचायत के मुखिया पति सह भाजपा नेता नंद लाल पासवान की गोली मारकर हत्या कर दी।

घटना उस वक्त हुई जब नंदलाल पासवान सो रहा था। बदमाशों ने उसे तीन गोली मारी। दो सीने में और एक हाथ में लगी। परिजनों ने उसे गंभीरावस्था में खगड़िया सदर अस्पताल लाया, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

ये भी पढ़ें : सहरसा : बेखौफ बाइक सवार बदमाशों ने उपमुखिया को गोली मार मौत के घाट उतारा

वहीं उत्तर माड़र पंचायत की मुखिया रागिनी देवी के पति की मौत की खबर जंगल में आग की तरह फैल गयी। अस्पताल में लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा। इधर घटना से गुस्साए ग्रामीणों, समर्थकों व परिजनों ने अस्पताल में ही हंगामा शुरू कर दिया।

आनन-फानन में लाया गया सदर अस्पताल, डॉक्टरों ने किया मृत घोषित, ग्रामीणों व परिजनों ने अस्पताल में किया हंगामा

आक्रोशित लोग बदमाशों की शीघ्र गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे। ग्रामीण हत्या का ठीकरा माड़र पुलिस पर फोड़ रहे थे। इनका कहना था कि पुलिस की लापरवाही से ही नंदलाल की जान गई है। आक्रोशित ग्रामीण थानेदार के स्थानान्तरण की मांग कर रहे थे।

ये भी पढ़ें : खगड़िया : बेखौफ हथियार बंद अपराधियों ने किसान की गोली मार कर दी हत्या

हंगामे की सूचना पर सदर एएसपी राज कुमार राज, एसडीओ धर्मेन्द्र कुमार सदलबल पहुंचे। काफी मशक्कत के बाद आक्रोशित ग्रामीणों व परिजनों को शांत किया गया। इधर एएसपी श्री राज ने बताया कि बदमाशों की गिरफ्तारी के लिए संदिग्ध ठिकानों पर छापेमारी की जा रही है। हत्या के कारणों का खुलासा नही हो पाया है।

घटना के संबंध में प्राप्त जानकारी के अनुसार गर्मी की वजह से सोमवार की रात मुखिया पति नंदलाल पासवान छत पर सोया हुआ था। इसी दौरान बारिश होने पर वह नीचे आंगन आकर एक कमरे में सो गया।

जी बिहार झारखंड ब्रेकिंग

बताया गया कि वह कमरे का दरबाजा नही लगाया था। इसी बीच पूर्व से घात लगाए दो बदमाश नंदलाल पर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। बदमाशों ने तीन गोली मारी। दो सीने में लगी जबकि एक गोली हाथ मे। गोली मारने के बाद बदमाश थाना के रास्ते भाग निकला।

ये भी पढ़ें : सहरसा : बेखौफ बदमाशों ने पंचायत सचिव की गोली मार कर दी हत्या

घटनास्थल व थाना की दूरी महज 4 सौ मीटर है। फायरिंग की आवाज सुनकर परिजन भी दौड़े-दौड़े आये और फिर खून से लथपथ बेहोश नंदलाल को सदर अस्पताल लेकर आया। लेकिन डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।