चोर गिरोह का हुआ खुलासा, दो चोर एक कबाड़ी वाले की हुई गिरफ्तारी, भेजे गए जेल

सहरसा से V & N की रिपोर्ट : पूर्व-मध्य रेलवे के सहरसा रेलवे स्टेशन क्षेत्र से दिनदहाड़े एक रिक्सा पर चोरी की गई रेलवे की बैट्री को बेचने जा रहे चोर को आरपीएफ ने धड़ दबोच लिया । वहीं चोरी की बैट्री खरीदने वाले कबाड़ी वाले को भी हिरासत में ले लिया गया।

बैटरी चोर गिरोह का आरपीएफ ने खुलासा किया है। गिरफ्तार लोगों में सूबे की राजधानी पटना के खुसरूपुर निवासी कबाड़ी दुकानदार पिता-पुत्र भी शामिल हैं। आरपीएफ को यह सफलता सहायक उप निरीक्षक श्रीनिवास कुमार के नेतृत्व में मिली है। सहायक उप निरीक्षक के साथ आरक्षी रमेश कुमार सिंह और संजय कुमार भी बैटरी बरामदगी में शामिल थे।

ये भी पढ़ें : रेलवे : तत्काल टिकट काउंटरों का औचक निरीक्षण, दलालों में मचा हड़कंप

पोस्ट कमांडर सारनाथ ने बताया कि बैटरी चोरी मामले में कबाड़ी दुकानदार पटना के खुसरूपुर के कन्या पाठशाला निवासी मुन्ना साह, पुत्र दीपक कुमार और सहरसा जिले के सौरबाजार के गम्हरिया इटहरा रामपुर वार्ड नं-6 निवासी रमेश शर्मा को गिरफ्तार किया गया है।

उन्होंने कहा कि सहायक उप निरीक्षक और आरक्षी को शनिवार की सुबह शहर के बंगाली बाजार रेलवे ढाला के पास एक रिक्शे पर सोलर में उपयोग होने वाली एक बैटरी ले जाते दो व्यक्ति दिखे। उक्त व्यक्ति की जैसे आरपीएफ पदाधिकारी व जवान पर नजर पड़ी वे कूदकर भाग गए।

ये भी पढ़ें : रेलवे : ड्यूटी अवधि में ट्रेन ऑपरेशन से जुड़े रेलकर्मी के लिए स्मार्टफोन इस्तेमाल पर रोक

सहायक उप निरीक्षक ने बताया कि रिक्शा चालक रमेश शर्मा को पकड़कर जब पूछताछ की तो उसने शहर के बटराहा वार्ड नं-26 में रहने वाले पटना निवासी कबाड़ी दुकानदार और उसके पुत्र के भी शामिल होने की जानकारी दी।

जब कबाड़ी दुकानदार के यहां छानबीन की गई तो रेलवे कॉलोनी से चुराई गई दो और बैटरी मिली। उन्होंने कहा कि हिरासत में लिया गया कबाड़ी दुकानदार वकील शर्मा के मकान में किराए पर रहता था। बैटरी चोरी मामले में पांच को नामजद किया गया है। पोस्ट कमांडर ने कहा कि फरार दोनों अभियुक्तों की पहचान कर ली गई है।