विषाक्त प्रसाद खाने से बुढ़े बच्चे सहित दो दर्जन लोग हुए बेहोश, इलाज जारी

सहरसा से V & N की रिपोर्ट : सहरसा जिले के सदर थाना क्षेत्र के महरथा और बनगांव थाना क्षेत्र के चैनपुर आदा टोला में शुक्रवार देर रात चोरी की घटना का नायाब तरीका देखने को मिला। दो लोगों द्वारा विषाक्त प्रसाद खिला करीब दो दर्जन बुढ़े बच्चों को बेहोश कर रात में तीन घरों में चोरी की घटना को अंजाम दे दिया।

विषाक्त प्रसाद खाने से सात बच्चे समेत पंद्रह लोगों की तबियत बिगड़ गई। बेहोसी की हालत में सभी लोगों को सदर अस्पताल सहरसा में भर्ती कराया गया। हालांकि सभी लोग खतरे से बाहर बताए जा रहे हैं। पुलिस मामले की छानबीन शुरू कर दिया है।

ये भी पढ़ें : बड़ी खबर : सेप्टिक टैंक खोलने के दौरान चार मजदूरों की मौत एक गंभीर

घटना के सम्बंध में बताया जाता है कि देर रात कुछ अज्ञात लोगों द्वारा मंदिर में चढ़ा हुआ प्रसाद के रूप में पेड़ा चढ़ा कर सभी को लोगों को खाने को दिया गया था। बताया जाता है कि प्रसाद खाने के बाद सभी लोग चक्कर खाकर बेहोश हो गए जिसके बाद अज्ञात बदमाशों ने घर मे रखे सारे कीमती समान की चोरी कर फरार हो गए।

सुबह जब आस पास के लोगों को खबर मिली तो आनन फानन में सभी लोगों को बेहोसी की हालत में सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया। बताया जाता है कि प्रसाद खाने के बाद सभी लोगों को सिर में चक्कर और उल्टी और बेहोसी छा गई थी। अस्पताल में भर्ती सभी लोग अलग अलग परिवार के सदस्य हैं।

ये भी पढ़ें : एक बीघा खेत में लगी गेहूं के पौध में जहरीला रसायन डाल कर दिया बर्बाद किसान हताश

वहीं इस बाबत सदर अस्पताल में ड्यूटी पर मौजूद चिकित्सक डॉ विनय कुमार ने सभी लोगों को खतरे से बाहर बताया है। फिलहाल सभी सदर अस्पताल में इलाजरत हैं।

वहीं इस बाबत सदर एसडीपीओ ने बताया कि देर रात अज्ञात लोगों द्वारा बाबा का प्रसाद कहकर ग्रामीणों के बीच प्रसाद बांटा गया था प्रसाद खाने के बाद सभी लोग बेहोश हो गए जिसके बाद तीन घरों में चोरी की घटना को अंजाम देकर फरार हो गए पुलिस फिलहाल जांच कर रही है जो भी दोषी होंगे उनकी जल्द ही गिरफ्तारी की जाएंगी।