गुरुवार को होने वाली महा बैठक में आगे की रणनीति पर होगी विशेष चर्चा

सिमरी बख्तियारपुर (सहरसा) ब्रजेश भारती : सहरसा जिले के पूर्व कोशी तटबंध के अंदर डेंगराही घाट पर हो रहे अनशन व उपवास कार्यक्रम को पूर्व जिप उपाध्यक्ष रितेश रंजन व अनशन बाबा प्रवीण आनंद का समर्थन प्राप्त हो गया है।

पुल निर्माण पर चलाएं जा रहें आंदोलन को गति प्रदान करने सहित इस आंदोलन की आगे की रणनीति पर चर्चा के लिए गुरुवार को घाप बाजार पर एक महा बैठक का आयोजन किया गया है इस बैठक में विशेष रणनीति पर चर्चा होगी।

ये भी पढ़ें : डेंगराही अनशन को पूर्व जिप उपाध्यक्ष व अनशन बाबा का मिला समर्थन

बुधवार को अनशन व उपवास स्थल पर पहुंच रितेश रंजन ने कहा कि आजादी के वर्षों बाद भी फरकिया के साथ फर्क बरकरार है। हर बार चुनाव के दौरान लंबे – लंबे वादे तो किये जाते है परंतु चुनाव बाद हर बार जनता को ठगा जाता है।

इसलिए जागने का वक्त आ चुका है और गुरुवार को इसके लिए सुबह दस बजे धाप बाजार में एक बैठक आयोजित किया जा रहा है। जिसमे आंदोलन की रूपरेखा तय की जायेगी। इसलिए जागिये और अपनी आवाज को बुलंद करिये।

ये भी पढ़ें : डेंगराही पुल : उपवास कर रहे भूषण के साथ 11जून से अनशन पर बैठेंगे रमन

अनशन स्थल पर उपस्थित प्रवीण आनंद ने कहा कि डेंगराही पुल, एम्स निर्माण सहित अन्य मांगों को लेकर जारी उपवास और अनशन को मेरा पूर्ण समर्थन है। फरकिया के साथ सत्ता के मठाधीश द्वारा जो सौतेलापन किया जा रहा है वह जगजाहिर है।इसलिए जागिये और अपने हक को छिनने के लिए तैयार हो जाइये।

इस मौके पर रामभरोस महतो, ईश्वर चौधरी, कमिल देव सिंह, दीनानाथ पटेल, कैलाश पासवान, जीवछ पासवान, चन्देश्वरी सिंह, रमन कुमार , पंकज यादव उर्फ गांधी, डॉ कमलेश्वरी शर्मा, संतोष पनिनार, चंदन चौधरी, राजीव भगत, संतोष भगत सहित अन्य मौजूद थे।