24 से 05 जुलाई तक आशा कार्यकर्ता घर-घर जा कीट करेंगे वितरित

सिमरी बख्तियारपुर (सहरसा) सुबे में राज्य स्वास्थ्य समिति, बिहार के द्वारा सोमवार यानी 24 जुन से 05 जुलाई तक चलने वाले सघन दस्त नियंत्रण पखवाड़ा शुरू हो गया। इस मौके पर अनुमंडलीय अस्पताल में जिंक व ओआरएस वितरण कार्नर बनाया गया है।

सोमवार इस मौके पर हेल्थ एजुकेटर संजय सिंह, प्रखण्ड स्वास्थ्य प्रबंधक महबूब आलम, बीसीएम सतीश कुमार शर्मा ने आशा फेसलिटेटर सहित दर्जनो आशा कार्यकर्ता को किट देकर घर घर वितरण करने का निर्देश दिया।

ये भी पढ़ें : गर्मी शुरू होते ही कोशी के पीएमसीएच में स्वास्थ्य व्यवस्था की खुली पोल

इस अभियान के दौरान प्राथमिक स्तर पर कार्य करने वाली स्वास्थ्य कार्यकर्ता (आशा) घर-घर जा कर जिंक की टेबलेट व ओआरएस की पैकेट वितरित करेंगी।

ये भी पढ़ें : बहुरेंगे महखड़ उपस्वास्थ्य केन्द्र के दिन, 1 करोड़ 65 लाख से होगा निर्माण

साथ ही एक सप्ताह से अधिक दस्त से प्रभावित लोगों को स्वास्थ्य केंद्र के लिए रेफर करेगे। इस मौके पर स्वास्थ्य प्रबंधक महबूब आलम ने बताया कि एनएचएम का मुख्य उद्देश्य शिशु मृत्यु दर को कम करना है। इसी को रोकने के लिए यह अभियान चलाया जाता है।

यह अभियान 24 जून से 05 जुलाई तक चलाया जायेगा। इसके अंतर्गत आशा क्षेत्र में भ्रमण कर जिंक व ओआरएस वितरित करेंगी.साथ ही लोगों दस्त के लक्षण व इससे बचाव के प्राथमिक उपचार के बारे में भी बताएगी।

कार्यक्रम में बताया गया कि दस्त से प्रभावित दो माह से कम उम्र के बच्चे को प्रत्येक पतली दस्त के बाद पांच चम्मच ओआरएस, दो माह से दो साल तक के बच्चों को प्रत्येक दस्त के बाद 1/4 कप से 1/2 कप और 2 साल से पांच साल तक के बच्चों को प्रत्येक दस्त के बाद 1/2 कप से एक कप दिया जाएगा।

ये भी पढ़ें : आजीवन अगर रहना है स्वस्थ तो अपनाएं आयुर्वेद के ये सब नियम

वही दस्त होने पर बच्चे को चौदह दिनों तक दो माह से छह माह तक के बच्चे को आधा गोली और 6 माह से 5 साल के बच्चे को एक गोली देना है।