विगत वर्ष हुए अनशन का हिस्सा रहे रमन कुमार ने डीए, एसपी को पत्र लिख दी अनशन करने की जानकारी

सिमरी बख्तियारपुर (सहरसा) ब्रजेश भारती : सहरसा जिले के सलखुआ प्रखंड अंतर्गत पूर्व कोशी तटबंध के अन्दर कोशी नदी के डेंगराही घाट पर पुल निर्माण सहित अन्य मांगों को लेकर डेंगराही घाट पर उपवास जारी है।

शुक्रवार को उपवास स्थल पर आसपास के इलाकों के ग्रामीणों ने भी पहुंच कर उपवास को अपना समर्थन देना शुरू कर दिया है। वही आज एक सप्ताह इस उपवास का पुरा हो गया है। उपवास कर रहे भूषण कुमार लगातार ये उपवास जारी रखने की बात कह रहे हैं।

ये भी पढ़ें : डेंगराही अनशन को पूर्व जिप उपाध्यक्ष व अनशन बाबा का मिला समर्थन

इधर 2017 में डेंगराही पुल को लेकर हुए अनशन में शामिल रमन कुमार ने डीएम, एसपी आदि को पत्र लिख कर ग्यारह जून से अनशन पर बैठने की बात कही है।

रमन कुमार (फाइल फोटो)

वरीय अधिकारियों को लिखे पत्र में रमण कुमार ने कहा है कि तीन दशकों से कोसी नदी के डेंगराही घाट पर पुल निर्माण के लिए पदयात्रा, धरना प्रदर्शन से लेकर आमरण अनशन तक किया गया परंतु सरकार की ओर से आज तक सिर्फ आश्वासन के सिवा कुछ नहीं मिला है।

ये भी पढ़ें : झांसी महिला दस्ता ने दियारा में मुलभूत सुविधा के लिए संधर्ष का किया ऐलान

वर्ष 2017 के फरवरी महीने में आमरण अनशन के दौरान जिला पदाधिकारी सहरसा एवं अन्य द्वारा अनशन समाप्त कराया गया था और पुल बनवाने का आश्वासन दिया गया था लेकिन साल बीतने के बाद भी अब तक कुछ हाथ नहीं लगा है।यदि 10 जून तक इस मामले में कोई ठोस कार्रवाई नहीं हुई तो 11 जून से अनिश्चितकालीन आमरण अनशन शुरू कर देंगे।

नरेंद्र मोदी को भगवान मान जाप करते अनशनकारी भूषण

● भूषण का उपवास जारी : यहां बताते चलें कि बीते सप्ताह शुक्रवार सुबह से डेंगराही घाट पर पुल निर्माण की मांग को लेकर भूषण कुमार उपवास पर बैठा है.भूषण देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपना भगवान मानता है।

ये भी पढ़ें : Saharsa : सलखुआ के दियारा में शिक्षा व्यवस्था भगवान भरोसे

भूषण के मुताबिक वह पीएम मोदी को भगवान और खुद को भक्त मानता है.उसने अपने भगवान को अपनी अनशन रूपी तपस्या से खुश कर वरदान मांगने की चाह में अनशन शुरू किया है.वह हमेशा ओम नमो नरेंद्राय नमः का जाप भी कर रहा है।

कौन है भूषण : भूषण कुमार मूल रूप से सलखुआ अंतर्गत कबीरा गांव का रहने वाला है। परंतु बीते डेढ़ साल से सहरसा में रह बैंक में नौकरी कर अपना जीवन यापन कर रहा है।