बुरी तरह जले युवक को इलाज के लिए अस्पताल में कराया गया भर्ती

सिमरी बख्तियारपुर (सहरसा) @Brajesh_Bharti. सहरसा जिले के बख्तियारपुर थाना क्षेत्र के पहाड़पुर मुसहरी टोला में रविवार रात एक युवक को पत्नी सहित ससुराल वालों ने इसलिए आग लगा जान से मारने का प्रयास किया की उसने ससुराल में घर जमाई रहने से इंकार कर दिया।

कुछ इस कदर जल गया है युवक अनिल सादा

गंभीर रूप से जख्मी युवक को इलाज के लिए अनुमंडलीय अस्पताल सिमरी बख्तियारपुर में भर्ती कराया गया जहां डॉक्टरों ने बेहतर इलाज के लिए सहरसा रेफर कर दिया गया। युवक का घर मधेपुरा जिला के खौपेती गांव का करने वाला हरिबल्लभ सादा का पुत्र तीस वर्षीय अनिल सादा बताया जा रहा है।

ये भी पढ़ें : फर्जी अधिकारी बन स्कूल पहुंचे तीन शातिर को ग्रामीणों ने पीटा, कार को किया आग के हवाले

वहीं बख्तियारपुर पुलिस जख्मी का फर्दबयान लेकर मामले की छानबीन शुरू कर दिया।

घटना के संबंध में बताया कि बताया जाता है कि अनिल सादा एक सप्ताह पूर्व पंजाब से कमा कर वापस अपने ससुराल आया हुआ था। रविवार दोपहर अनिल अपने ससुराल पहाड़पुर महादलित टोला में पत्नी रेणू देवी से कमा कर लाए गए रखे रूपए की मांग किया।

ये भी पढ़ें : बिजली करंट की चपेट में आने से लाइन मैन की झुलस कर मौत, आक्रोशितों ने किया सड़क जाम

जिसको लेकर पति पत्नी में झगड़ा हुआ। पत्नी व ससुराल वाले अनिल को घर जाने से मना कर यहां ही रहने का दवाब बनाने लगा लेकिन अनिल नही माना। वह रूपए लेकर अपने घर जाने की जिद पर अड़ा रहा।

जख्मी अनिल का पिता

देर रात अनिल सोया हुआ था कि पत्नी रेणू देवी, ससुर रामभरण सादा एवं सास सहित अन्य लोगों ने सोए अनिल के शरीर पर किरासन का तेल छिड़क आग लगा दिया। अनिल किसी तरह जलते हुए वहां से भाग तुर्की गांव अपने ननिहाल पहुंच बेहौश हो गया।

ये भी पढ़ें : एक बाइक के लिए नवविवाहिता की फांसी लगा कर दी गई हत्या

जहां से उसके रिस्तेदारों ने उले इलाज के लिए अनुमंडलीय अस्पताल इलाज के लिए भर्ती कराया। अनिल बुरी तरह झुलस गया है। लगभग चालीस प्रतिशत वह जल चुका है। डाक्टरों की मानें तो बुरी तरह जला हुआ है समुचित इलाज की आवश्यकता है।

अनिल का मां

यहां बताते चलें कि मधेपुरा जिला के खौपेती निवासी हरिबल्लभ सादा के पुत्र अनिल सादा की शादी दो वर्ष पूर्व बख्तियारपुर थाना क्षेत्र के पहाड़पुर महादलित टोला निवासी रामभरण सादा की पुत्री रेणू देवी से हुई थी। शादी के बाद अनिल सादा को एक पुत्री हुई। जिसका उम्र लगभग छः माह है।

ये भी पढ़ें : पति-पत्नी ने मिलकर विधवा के खाते से उड़ाए तीस हजार

शादी के बाद अनिल कमाने के लिए अक्सर पंजाब जाता रहता था। वहीं से वह कमाई का रूपया पत्नी को भेजता रहता था। घटना के एक सप्ताह पूर्व ही अनिल कमा कर ससुराल आया हुआ था। वह ससुराल में नहीं रहना चाहता था लेकिन पत्नी व ससुराल के लोग इस बात से राजी नहीं थे।

बख्तियारपुर थानाध्यक्ष अनिल कुमार सिंह

वहीं इस संबंध में बख्तियारपुर थानाध्यक्ष अनिल कुमार सिंह ने बताया कि फर्दबयान लिया गया है पुलिस पुरे मामले की छानबीन कर रही है जल्द आरोपी को हिरासत में ले लिया जाएगा।