मुख्यमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत बनमा-ईटहरी के परसाहा गांव में निर्माणधीन है पुल व सड़क

सिमरी बख्तियारपुर (सहरसा) ब्रजेश भारती : बिहार में सुशासन बाबू का शासन लगभग समाप्ति की ओर अग्रसर है। सुबें में चल रहे विकास कार्य में संवेदक की मनमर्ज़ी चरम पर है। देखने वाला कोई नहीं है। वो भी मंत्री जी के गृह क्षेत्र में। पुल व सड़क निर्माण में अनियमितता को लेकर बार बार ग्रामीण विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं लेकिन किसी ने इस ओर झांकने की जहमत नहीं उठाई है।

घटिया सामग्री दिखाते ग्रामीण

जी हां,यह पुरा वाक्या सहरसा जिले के सिमरी बख्तियारपुर अनुमंडल क्षेत्र के बनमा-ईटहरी प्रखंड का है। यहां के परसाहा गांव में मुख्यमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत सड़क व पुल का निर्माण किया जा रहा है। निर्माण में अनियमितता को लेकर गुरुवार को दुसरी बार ग्रामीणों ने विरोध प्रदर्शन कर गुणवत्ता पूर्ण कार्य करने की मांग की लेकिन कोई सुनने वाला नहीं है।

देखें वीडियो रिपोर्ट :

ग्रामीण कालो सादा, छत्री यादव, कमलेश्वरी यादव, राजकुमार सादा, दिलीप सादा, संजीत शर्मा, वासो सादा, राधे यादव, दिनेश सादा, विवेकानंद, बैधनाथ, अशोक, बुधो, सनोज राम सहित ने बताया कि करीब एक किलोमीटर दूरी का सड़क निर्माण चल रहा है।

ये भी पढ़ें : जब मांगी आरटीआई से सूचना तो सड़क ढ़लाई कार्य किया शुरू, घटिया निर्माण की शिकायत

इस सड़क मार्ग में कुरिया के समीप पुलिया का निर्माण कार्य किया जा रहा है। जिसकी ऊंचाई मुख्य सड़क मार्ग परसबन्नी-हराहरी से बहुत ही कम है। वहीं सड़क निर्माण में अभी मिट्टी का कार्य कर दिया गया है। सड़क की ऊंचाई इतनी कम है जब भी बाढ़ आएगा सड़क पानी में डुब जाएगा।

वहीं ग्रामीणों ने कहा कि पुल निर्माण में अब तक घटिया सामग्री का प्रयोग किया गया है और किया जा रहा। योजना स्थल पर ना तो योजना बोर्ड लगाया गया है ना ही कोई तकनीकी इंजीनियर या सहायक मौजूद रहते। सिर्फ मुंशी के सहारे सारा काम चलता है।

ये भी पढ़ें : सांसद पप्पू यादव के गोद लिए इस गांव के ग्रामीणों ने वोट बहिष्कार का लिया बड़ा फैसला

ग्रामीणों ने कहा कि इससे पहले भी हम लोगों ने गुणवत्ता पूर्ण कार्य के लिए प्रदर्शन किया वरीय अधिकारियों को लिखित शिकायत की लेकिन सुनने वाला कोई नहीं है। संवेदक तो काम कर चला जाएगा लेकिन सब दिन भुगतना हम लोगों को पड़ेगा।

पूर्व में हुए प्रदर्शन(फाइल फोटो)

हालांकि इस संबंध में जब कार्य स्थल पर रहें मुंशी से पुछा गया तो वो बेबाक से बोलते हैं सभी कार्य नियम संगत व प्राक्कलन के अनुरूप किया जा रहा है ग्रामीणों का सभी आरोप वेबूनियाद है।