सहरसा जिले के सोनवर्षाराज थाना क्षेत्र के हरिपुर गांव की घटना

तीन माह पूर्व हुई थी शादी, पति है अन्य प्रदेश में, बाइक व रूपए की हो रही थी मांग

सहरसा से V & N की रिपोर्ट : समाज में जब तक दहेज के लोभी जानवर रहेंगे तब यू ही हमारे समाज की बहू बेटियां इन दहेज लोभी दानवों का शिकार होती रहेंगी।

शव को पोस्टमार्टम के लिए ले जाते परिजन

ताज़ा मामला सहरसा जिले के सोनवर्षाराज थाना क्षेत्र के हरिपुर गांव से सामने आया है। एक 22 वर्षीय विवाहिता की संदिग्ध स्थिति में उसके ससुराल में मौत हो गई। मृतिका का नाम बबीता देवी बताया जाता है। पुलिस शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज मामले की छानबीन शुरू कर दिया है।

ये भी पढ़ें : सास ने बहू को मिठाई में जहर मिला मौत के घाट उतार ग्रामीण सहयोग से शव को जलाया

मृतिका के परिजनों ने ससुराल पक्ष के लोगों पर दहेज नही देने पर जहर पिला कर हत्या करने का आरोप लगाया है। वहीं मृतिका के पति इस समय गांव में नहीं है वे अन्य प्रदेश में जीवन यापन के लिए गए हुए हैं।

घटना के सम्बंध में बताया जाता है कि खगड़िया जिला के बेलदौर गांव निवासी बबीता देवी की शादी तीन माह पूर्व सोनवर्षाराज थाना क्षेत्र के हरिपुर गांव निवासी रामानंद पासवान के पुत्र गगन पासवान से हुई थी। बताया जाता है कि शादी में लड़की के घर वालों ने एक लाख रुपये सहित अन्य सामान दिया था।

ये भी पढ़ें : बाईक व एलईडी टीवी के लिये दहेज की बलिवेदी पर चढ़ा दी गई एक और विवाहिता

इस सब के बावजूद इसके लड़की के ससुराल पक्ष के लोगों द्वारा एक बाइक और रुपये की मांग की जा रही थी। बताया जाता है कि मृतिका के पति गगन पासवान ने इससे पूर्व भी तीन शादियां कर रखी है, जिसकी जानकारी लड़की के परिवार वालों को नही थी। मृतिका के पति बाहर रहकर मजदूरी करता है।

मृतिका अपने ससुराल में सास – ससुर के साथ रहती थी।घटना की जानकारी बीते देर रात मृतिका के ससुराल पक्ष द्वारा घर वालों को सूचना दी गई कि बबिता ने जहर खा लिया है। जानकारी मिलने के बाद जब परिजन बबिता के ससुराल पहुंचे तो वो मृत पड़ी थी।

ये भी पढ़ें : सहरसा : दहेज की बलिवेदी पर चढ़ा दी गई एक और बेटी दुर्गा

वहीं घटना की सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने मृतिका के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और मामले की छानबीन में जुट गई है।