• शादी का झांसा देकर करता रहा यौन शोषण,अब मांग रहा दहेज में मोटी रकम

सिमरी बख्तियारपुर (सहरसा) आज के युवा पीढ़ी को सोशल मीडिया से दूर रहने की हिदायत परिवार के सदस्य समय-समय पर देते रहते हैं, लेकिन युवा पीढ़ी है कि मानती ही नहीं है। फेसबुक के जरिए एक युवक ने युवती से दोस्ती कर ली। कुछ दिन बाद दोनों में प्यार हो गया।

फोटो सांकेतिक

प्यार खूब परवान चढ़ा। बात शादी तक पहुंच गई। युवक शादी का आश्वासन देकर युवती का शारीरिक शोषण करता रहा। जब बात घर वालों को लगी तो बात शादी कर देने को हुई। चुंकि दोनों एक ही अनुमंडल क्षेत्र के रहने वाले थे तो समाज के कुछ सम्मानित लोग बीच की बात कर मामला का हल निकालना चाहा लेकिन बात नहीं बनी।

ये भी पढ़ें : फेसबुक पोस्ट पर आपत्तिजनक कमेंट करने वाला आरोपी युवक गिरफ्तार

अंत में युवती थक हार कर महिला थाना पहुंच पुलिस से न्याय की गुहार लगाई है। वहीं पुलिस मामले की छानबीन शुरू कर दिया है।

पीड़ित युवती

पुरा वाक्या सहरसा जिले के सिमरी बख्तियारपुर अनुमंडल क्षेत्र की है। युवती बनमा-ईटहरी प्रखंड क्षेत्र की रहने वाली है जो किराए के मकान में अपने परिजनों के साथ नगर पंचायत क्षेत्र में रहती है।

ये भी पढ़ें : अंततः प्यार की हुई जीत, प्रेमिका ने प्रेमी को बनाया पति

वहीं युवक सलखुआ प्रखंड के कोशी दियारा का रहने वाला है वह भी नगर पंचायत क्षेत्र में ही रहता है साथ ही बख्तियारपुर थाना चौक पर रेडिमेड कपड़े की दुकान चलाता है। युवती ने रविवार को मीडिया से पुरी कहानी की आपबीती सुनाई है।

फोटो सांकेतिक

बतौर युवती आज से सात माह पहले सोसल मीडिया एप फेसबुक से आशीष जयसवाल पोस्ट आफिस गली नगर पंचायत सिमरी बख्तियारपुर से दोस्ती हुई कुछ ही दिनों में यह दोस्ती प्यार में बदल गया। इस बीच बात शादी तक पहुंच गई। जब शादी की बात हो गई तो युवती ने अपना शरीर भी युवक को सुपुर्द कर दिया।

ये भी पढ़ें : पत्नी के ससुराल जाने से इंकार करने पर पति ने चाकू मार किया जख्मी

इस बीच दोनों के बीच शारीरिक संबंध बनते रहे। जब युवती के घर वालों को पुरी जानकारी हुई तो वह उस युवक से शादी कर देने को राजी हो गए। बात शादी की होने लगे चुंकि दोनो का परिवार नगर पंचायत क्षेत्र में ही रहता था तो शादी की बात आगे बढ़ी।

आरोपी युवक, फाईल फोटो

बतौर युवती द्वारा थाना को दिए लिखित आवेदन मामला दहेज में नगद पांच लाख तीन लाख का अन्य समान पर अटक गया। कुछ समाज के प्रबुद्ध लोग मामले को सुलझाना चाहा लेकिन मामला नहीं सुलझा तो पुलिस से गुहार लगाई गई।