प्रथम दृष्टया मामला प्रेम-प्रसंग का पुलिस जुटी जांच में,आधा दर्जन को बनाया नामजद आरोपी

सिमरी बख्तियारपुर (सहरसा) सहरसा जिले के बख्तियारपुर थाना क्षेत्र के नगर पंचायत शर्मा टोला वार्ड नंबर – 2 से एक नाबालिग लड़की का बहला-फुसला कर भगा ले जाने का मामला सामने आया है।

फोटो सांकेतिक

इस मामले में पीड़ित लड़की के पिता ने एक युवक सहित उसके रिश्तेदारों सहित 7 लोगों को नामजद अभियुक्त बनाते हुए बख्तियारपुर थाना में आवेदन देकर अपनी पुत्री की सकुशल बरामदगी की गुहार लगाया है।

ये भी पढ़ें – दुसरे से शादी कराने की नियत से विवाहिता का बाइक से जबरन अपहरण

पीड़ित पिता ने पुलिस को दिये आवेदन में कहा है कि बीते 31 मार्च की मध्य रात्रि अचानक मेरी पुत्री घर से गायब हो गयी। जिसकी जानकारी अगले दिन सुबह में जगने के बाद हुई। वहीं मोबाइल देखने से पता चला कि एक नंबर से घर की नंबर पर रात में बात हुई थी।

पुत्री की काफी खोजबीन के बाद पता चला कि भौरा गांव निवासी कबैय दास उर्फ माहेश्वर मेहता के पुत्र रोहित कुमार के द्वारा बहला-फुसला कर मेरी पुत्री को गायब कर दिया गया है। इसके बाद उसके घर जाकर उसके माता-पिता से पूछताछ किया।

ये भी पढ़ें : अपहृत युवती बरामद, अपहरण मामले में हुआ बड़ा खुलासा

ग्रामीणों के सामने उन लोगों ने 4 घंटों में पुत्री को सुपूर्द करने की बात कही थी, लेकिन कई बार उसके घर जाने-आने के बाद भी अभी तक पुत्री को सुपूर्द नहीं किया गया। इसके बाद 3 अप्रेैल को पुन: भौरा गांव जाने पर पता चला कि मेरी पुत्री को रोहित कुमार, माहेश्वर मेहता उर्फ कवैय दास, माहेश्वर की पत्नी जिसका नाम नहीं मालूम, संजीत कुमार मेहता, रौशन कुमार मेहता, राहुल कुमार एवं छोटेलाल मेहता सभी भौरा निवासी ने मेरी पुत्री को मधेपुरा जिला के घैलाढ़ थाना क्षेत्र अंतर्गत कमलपुर निवासी बालेश्वर मेहता के यहां ले जा कर रखा है।

इस संबंध में थानाध्यक्ष अनिल कुमार सिंह ने बताया कि प्राप्त आवेदन हुआ है प्रथम दृष्टया मामला प्रेम प्रसंग का प्रतीक होता है पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। जल्द लड़की को बरामद कर लिया जाएगा।