*मैट्रिक परीक्षा अच्छा नहीं जाने की वजह से भाग गई थी परिजनों के पास

*पिता ने दर्ज कराई थी पुत्री के शादी की नियत से अपहरण की रिपोर्ट

सिमरी बख्तियारपुर (सहरसा) ब्रजेश भारती की रिपोर्ट :-

सहरसा जिले के बख्तियापुर थाना अंतर्गत बलवाहाट ओपी क्षेत्र के एक गांव से गत दिनों अपहृत युवती को पुलिस ने सकुशल बरामद कर लिया है।

युवती की बरामदगी पुलिस ने ओपी क्षेत्र के समीप स्थित एक नहर के पास से करने की बात कही गई है। वही पुलिस ने युवती को 164 भादवि के तहत बयान के लिए सहरसा न्यायालय को समर्पित कर बयान दर्ज करवा मेडिकल जांच के उपरांत युवती को माता पिता को सुपूर्द कर दिया है।

बलवाहाट ओपीध्यक्ष गुड्डू कुमार की माने तो युवती ने अपने अपहरण की बात को खारिज कर दिया है। युवती ने न्यायालय को बताया है कि चुंकि गत वर्ष दिए गए मैट्रिक परीक्षा में परिणाम बढ़िया नहीं आया था जिसकी वजह से इस बार(अपहरण की रिपोर्ट दर्ज होने से पहले) भी दिए गए मैट्रिक परीक्षा में बेहतर परीक्षा नहीं गया।

ये भी पढ़ें :- बलवाहाट से नाबालिग युवती का शादी की नियत से अपहरण

परीक्षा अच्छी नहीं जाने की वजह से घर वालों के द्वारा मिलने वाले डांट डपट की वजह से वह अपने मन से घर से निकल अपने एक रिश्तेदार के यहां चली गई थी। जब पता चला कि घर वालों ने अपहरण का केस थाना में किया तो वापस चली आई।

यहां बताते चलें कि अपहृत लड़की की मां ने 2 मार्च को बलवाहाट ओपी में लिखित आवेदन देकर बख्तियारपुर थाना में कांड संख्या 66/19 दर्ज कराई थी। पुलिस को दिए गए लिखित आवेदन में उन्होंने कही कि शुक्रवार को उसकी 16 वर्षीय पुत्री घर से पानी लाने के लिए निकली थी। जब वह घर वापस लौट कर नहीं आयी तो सभी स्तर से पुत्री की खोजबीन करने लगी । वहीं खोजबीन के दौरान पता चला कि भौटिया गांव निवासी मो अजीम उद्दीन के पुत्र राजा ने उसकी पुत्री को मोटरसाइकिल पर बैठा कर शादी करने के नियत से जबरन अपहरण कर कहीं भाग ले गया।