पीकअप पर लदी 71 कार्टून शराब के साथ ड्राइवर व कारोबारी गिरफ्तार


धान के खाली बोरी के नीचे 1992 बोतल में बंद 631 लीटर शराब बरामद


खगड़िया के करूआ-मोड़ से सिमरी बख्तियारपुर के लाया जा रहा था शराब


23 कार्टून शराब का मामला दिनभर बना रहा चर्चा का विषय


सिमरी बख्तियारपुर (सहरसा) ब्रजेश भारती की रिपोर्ट :-

नववर्ष पर सहरसा पुलिस के लिए बड़ी सफलता हाथ लगी है। बनमा ओपी पुलिस ने गस्ती के क्रम में सुगमा चौक के समीप से एक पीकअप में खाली धान की बोरी के नीचे छुपा कर ले जा रहे 71 कार्टून शराब के साथ पीकअप ड्राइवर व एक कारोबारी को गिरफ्तार कर लिया है। 

बनमा ओपी में आयोजित प्रेस वार्ता में डीएसपी मृदुला कुमारी ने बताई कि बनमा ओपीध्यक्ष पुलिस बलों के साथ गस्ती पर थे सोनवर्षा राज की ओर से एक पीक अप वाहन आ रही थी कि संदेह होने पर सुगमा चौक के समीप तीन मुहानी के समीप गाड़ी की तलाशी ली गई तो उसमें धान की खाली बोरी के नीचे छुपा कर शराब ले जाया जा रहा था। 

पुलिस ने पीक अप बीआर 26 एफ 1523 को जप्त कर एक ड्राइवर विकास कुमार एवं शराब कारोबारी को गिरफ्तार कर लिया। 


डीएसपी ने बताई कि जप्त की गई रायल स्टेज कम्पनी के शराब में 35 कार्टून 375 एमएल के 840 बोतल, 20 कार्टून 180 एमएल की 960 बोतल, 10 कार्टून 750 एमएल के 120 बोतल एवं इंपेरियल ब्लू ब्राण्ड 6 कार्टून जिसमें 72 बोतल शराब जप्त किया गया है। 

उपरोक्त सभी शराब की मात्रा 631.8 लीटर है जिसकी अनुमानित लागत करीब 6 लाख बताई जा रही है। डीएसपी ने बताई कि मुख्य शराब कारोबारी की पहचान कर ली गई है जल्द उसे पुलिस गिरफ्तार कर लेगी। 

इस मौके पर बख्तियापुर थानाध्यक्ष रणवीर कुमार, इन्स्पेक्टर सत्य नारायण राय, अशोक कुमार, सिन्हेश्वर पाठक, उदय नाथ शर्मा सहित डीएपी पुलिस बल मौजूद रहे। 

23 कार्टून शराब दिन भर बना रहा चर्चा का विषय –


इस बीच जैसे ही सुबह सवेरे भारी मात्रा में शराब के साथ दो व्यक्ति व एक पीकअप वाहन पकड़े जाने की खबर आमजनों के बीच लगी हर कोई यह जानने को बेताब नजर आ रहा था कि कितनी मात्रा में शराब पकड़ाया और कौन लोग गिरफ्तार हुआ है। 

इस बीच शराब के जप्त कार्टून की संख्या के संबंध में जितनी मुंह उतनी बातें होती रही। सबसे पहले 96 कार्टून शराब जप्त होने की खबर चर्चा में आया उसके बाद यह संख्या 80 कार्टून पर गई। अंत में जब डीएसपी मृदुला कुमारी ने पीसी कर 71 कार्टून शराब पकड़ाने की जानकारी दी अटकलों पर विराम लग गया।